अक्सर : लेखक राजीव डोगरा

अक्सर

इश्क़ की रातें
और इश्क़ की बातें
अक्सर महँगी पड़ती है।

ज्यादा समझदारी और
लगी हुई इश्क़ बीमारी
अक्सर महँगी पड़ती है।

गैरों के साथ यारी और
अपनों के साथ गद्दारी
अक्सर महंगी पड़ती है।

जरूरत से ज्यादा समझदारी
और गैरों से वफादारी
अक्सर महंगी पड़ती है।

राजीव डोगरा
(भाषा अध्यापक)
गवर्नमेंट हाई स्कूल ठाकुरद्वारा
पता-गांव जनयानकड़
पिन कोड -176038
कांगड़ा हिमाचल प्रदेश
9876777233
rajivdogra1@gmail.com

 

  • Related Posts

    सम्मेलन रत्न सम्मान से सम्मानित हुए डॉ. शशि

    वाणीश्री न्यूज़ डेस्क। वैशाली हिंदी साहित्य सम्मेलन के अध्यक्ष और वरिष्ठ पत्रकार डॉ. शशि भूषण कुमार को…

    Continue reading
    वरिष्ठ फिल्म पत्रकार काली दास पाण्डेय को मिला ‘राष्ट्रीय सेवा सम्मान’ अवार्ड

    मालाबार हिल, वालकेश्वर रोड मुम्बई स्थित राज भवन में आयोजित राष्ट्रीय सेवा सम्मान समारोह में वरिष्ठ फिल्म…

    Continue reading

    You Missed

    परिवर्तनकारी शिक्षक महासंघ ने किया मांग शिक्षकों पर हुई कार्रवाई की हो वापसी

    परिवर्तनकारी शिक्षक महासंघ ने किया मांग शिक्षकों पर हुई कार्रवाई की हो वापसी

    छात्रों और शिक्षकों के लिए राहत की खबर 11 से 15 जुन तक विद्यालय में रहेगा अवकाश

    एक महीने के भीतर गांव में सोलर स्ट्रीट लाइट का शत प्रतिशत अधिष्ठापन कराएं : डीएम

    एक महीने के भीतर गांव में सोलर स्ट्रीट लाइट का शत प्रतिशत अधिष्ठापन कराएं  : डीएम

    तेघड़ा में फ्लाईओवर बनाने की माँग हुई तेज

    तेघड़ा में फ्लाईओवर बनाने की माँग हुई तेज

    संत पॉल पब्लिक स्कूल तेघड़ा में समर कैम्प शुरू, बच्चों को मिल रहा विशेष शिक्षा

    संत पॉल पब्लिक स्कूल तेघड़ा में समर कैम्प शुरू, बच्चों को मिल रहा विशेष शिक्षा

    भीषण गर्मी व लू से बचाव को लेकर अधिकारियों को डी.एम ने दिए कई निर्देश

    भीषण गर्मी व लू से बचाव को लेकर अधिकारियों को डी.एम ने दिए कई निर्देश