जिलाधिकारी ने किया फतेहपुर पंचायत का औचक निरीक्षण

Advertisement

वाणीश्री न्यूज़, हाजीपुर(वैशाली)।जिलाधिकारी श्री यशपाल मीणा संध्या के 4:30 बजे महुआ प्रखंड के फत्तेपुर पकड़ी पंचायत के वार्ड संख्या 2 में पहुंच गए और स्थानीय लोगों से मिलकर सरकार की योजनाओं के क्रियान्वयन की जानकारी ली।यहां पर एक स्थानीय व्यक्ति मनोज सिंह ने बताया कि वार्ड संख्या 2 में टंकी से पानी की आपूर्ति बाधित रहती है।उन्होंने बताया की मोटर बार-बार जल जा रहा है। इस पर जिलाधिकारी पानी टंकी तक गए और वहां जाकर निरीक्षण किया।

Advertisement

लोगों ने बताया कि अंचलाधिकारी 1 सप्ताह पहले आए थे ।उन्हें भी मोटर जलने की बात बताई गई थी। इस पर जिलाधिकारी के द्वारा 2 दिनों के अंदर मोटर ठीक करा कर पानी की सप्लाई सुनिश्चित कराने का निर्देश अंचलाधिकारी एवं मुखिया श्री राकेश कुमार को दिया गया। यहां पर पंचायत सचिव श्री सुनील कुमार ठाकुर ने बताया कि पंचायत में कुल 14 वार्ड हैं जिसमें वार्ड नंबर 3 को छोड़कर सभी का प्रभार हो गया है ।

इस पर जिलाधिकारी ने कहा कि वार्ड नंबर 3 का प्रभार कल करवाइए अन्यथा संबंधित व्यक्ति पर प्राथमिकी दर्ज करा दीजिए।वार्ड नंबर 12 के वार्ड सदस्य ने बताया कि पानी का टंकी पूर्व के वार्ड सदस्य के घर पर लगा हुआ है जिससे मोटर चलाने में परेशानी होती है।उन्होंने कहा कि यह मामला अनुरक्षक का है। इस पर जिलाधिकारी के द्वारा मुखिया जी को जरूरी निर्देश दिया गया।जिलाधिकारी के द्वारा पंचायत सरकार भवन का निरीक्षण किया गया।

यहां पर चारदीवारी निर्माण का कार्य कराया जा रहा था। जिलाधिकारी के पूछने पर बताया गया की यहां पर कार्यपालक सहायक नियमित रूप से बैठते हैं और लोगों से आवेदन भी प्राप्त कर ऑनलाइन करते हैं। कार्यपालक सहायक ने बताया कि पिछले 3 दिनों से वार्ड सदस्यों का प्रशिक्षण चल रहा है जिसके कारण अभी आवेदन नहीं लिया जा रहा है। जिलाधिकारी के द्वारा पंचायत सरकार भवन परिसर को साफ रखने एवं वहां से सभी तरह के अतिक्रमण को हटाने का निर्देश दिया गया।

यहां पास में ही मध्य विद्यालय था जहां पुस्तकालय खोलने के बारे में बताया गया।जिलाधिकारी के द्वारा यहां पर उपस्थित युवाओं को स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड के बारे में बताया गया एवं इसका प्रचार-प्रसार करने को कहा गया ताकि कमजोर परिवार के बच्चे इंटरमीडिएट की परीक्षा पास करने के बाद आगे की पढ़ाई जारी रख सकें ।पंचायत सरकार भवन के पीछे एक बड़ा तालाब था जिसका निरीक्षण किया गया और इसके इनलेट एवम आउटलेट की जानकारी प्राप्त की गई ।

जिलाधिकारी के द्वारा पोखर के चारो ओर मनरेगा से पौधारोपण कराने का निर्देश दिया गया ।आगे बढ़कर जिलाधिकारी जीविका दीदी के समूह से मिले और उनसे उनके कार्यों की जानकारी ली। समूह की दीदियों ने बताया कि उनके समूह को ₹300000 का लोन मिला हुआ है जिससे वे लोग मवेशी खरीदना चाह रही हैं। जिलाधिकारी ने कहा कि अगर हाजीपुर में केले के रेशे से निर्मित वस्तुओं के लिए उत्पादन इकाई लगाई जाए तो आप लोग वहां कार्य करेंगे इस पर सभी ने हां में सिर हिलाया।

जिलाधिकारी महुआ प्रखंड कार्यालय परिसर में स्थित कौशल विकास केंद्र भी गए और वहां केंद्र संचालन की जानकारी प्राप्त की। बताया गया कि सुबह 7:00 बजे से संध्या 7:00 तक 20 -20 की बैच में 5 बैच चलाया जा रहा है। चल रहे बैच के बच्चों से जिलाधिकारी मिले और कुछ प्रश्न किये, जिस पर बच्चों ने सही जवाब दिया ।इस पर जिलाधिकारी ने प्रसन्नता व्यक्त की।जिलाधिकारी के साथ इस अवसर पर प्रशिक्षु सहायक समाहर्ता सुश्री निशा, अनुमंडल पदाधिकारी श्री संदीप कुमार, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी श्री ज्ञानेश्वर प्रकाश ,अंचलाधिकारी, सीडीपीओ एवं अन्य प्रखंड स्तरीय पदाधिकारी तथा स्थानीय मुखिया सहित अन्य जनप्रतिनिधि गण उपस्थित थे।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here