रिपोर्ट प्रमोद यादव सुल्तानपुर।जयसिंहपुर सुल्तानपुर जिला मंत्री एस एफ आई सौरभ मिश्र रक्षाबंधन के पावन पर्व पर बहनों बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर व तथागत गौतम बुद्ध की कृपा से आज रक्षा का सूत्र बांधकर ,माता सावित्री बाई फुले और उनके विचारों को अपने परिवार को जागृत करने के लिए बताया और यह भी कहा कि अंबेडकर जी के विचारों से आज महिलाओं को पढ़ने लिखने जैसे तमाम क्षेत्रों में पुरुषों के बराबर हक मिला और मान सम्मान प्राप्त हुआ रक्षा का सूत्र केवल यह नहीं दर्शाता की बहन अपने भाई की कलाई में एक रक्षा सूत्र बांधे, और घर पर ही रहे, सूत्र बांधने का मतलब इनको बराबर का सम्मान मिले पढ़ने का अधिकार हो धन रखने का अधिकार हो खेती बारी में भी हिस्सेदारी बराबर हो रक्षा सूत्र बांधने का मतलब यह है आज हम लोग देख रहे हैं कि हम पुरुषों की तुलना में महिलाएं आगे जा रहे हैं तो इसका कारण मात्र यह है कि इनको अधिकार दिया गया एक समय ऐसा था जब मनुस्मृति लागू थी तो महिलाओं को पढ़ने लिखने का अधिकार नहीं था आज महिलाओं के चलते हम बहुत आगे जा चुके हैं व भारत महिला प्रधान देश कहा जाता है

Previous articleमनुस्मृति लागू थी तो महिलाओं को पढ़ने लिखने का अधिकार नहीं था
Next articleE PAPER वाणीश्री न्यूज़ 23-08-2021