एसटीईटी नियुक्ति में पारदर्शिता व नोटिफिकेशन जारी को ले एआईएसएफ का शिक्षा मंत्री के आवास पर जबरदस्त प्रदर्शन

Advertisement

पटना/हाजीपुर(वैशाली)एसटीईटी परीक्षाफल जारी करने के बाद छात्रों का जारी प्रदर्शन थमने का नाम नहीं ले रहा है।ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन द्वारा आहूत प्रदर्शन आज भी जारी रहा।गुस्साए छात्रों ने पहले बिहार बोर्ड कार्यालय पर रोषपूर्ण प्रदर्शन किया।बिहार बोर्ड पर किसी मजिस्ट्रेट को नहीं पाकर एवं वार्ता का कोई पहल नहीं होने पर गुस्साए छात्र नारे लगाते हुए शिक्षा मंत्री के आवास तक पैदल मार्च किया।प्रदर्शन कारी छात्र शिक्षा मंत्री आवास पर पहुँचे उस वक़्त शिक्षा मंत्री विजय चौधरी नहीं थे।सचिवालय थाने के सब इंस्पेक्टर राहुल कुमार ने आवास पर मौजूद कर्मियों के द्वारा शिक्षा मंत्री से संपर्क कर कल 10बजे दिन में एआईएसएफ प्रतिनिधिमंडल को वार्ता के लिए समय तय कराया।

शुक्रवार को दस बजे सुबह में छात्रों का पाँच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल शिक्षा मंत्री विजय चौधरी से उनके आवास पर मिलेगा। सचिवालय थानाध्यक्ष एवं प्रदर्शन कारी छात्रों में आवास के गेट पर तीखी झड़प भी हुई।प्रदर्शनकारी छात्र शिक्षा मंत्री विजय चौधरी द्वारा बुधवार को सभी उतीर्ण शिक्षक अभ्यर्थियों को बहाली प्रक्रिया में शामिल होने के आश्वासन का लिखित नोटिफिकेशन एवं विषयवार, कोटिवार रिक्त पदों पर रोस्टर का पालन करने हेतु सूची जारी करने की माँग कर रहे थे।

Advertisement

बिहार बोर्ड में किसी मजिस्ट्रेट को नहीं पाकर या वार्ता के लिए कोई पहल नहीं होने पर आक्रोशित छात्रों का जत्था शिक्षा मंत्री के आवास पर रूख किया।इस दौरान झंडा-बैनर-पोस्टर के साथ नारे लगाते हुए आक्रोशित छात्रों का जत्था म्यूजियम,तारामंडल,इनकम टैक्स गोलंबर,हाईकोर्ट,हड़ताली चौराहा,न्यू सचिवालय होते हुए शिक्षा मंत्री के आवास पर पहुँचा।बिहार बोर्ड पर छात्रों के प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस लाइन से दर्जनों की संख्या में पुलिस के जवानों को तैनात कर दिया गया था लेकिन वार्ता कराने के लिए कोई मजिस्ट्रेट नहीं था। छात्रों के प्रदर्शन के बारे में जानकारी मिलने पर कोतवाली थानाध्यक्ष सुनील कुमार आए।प्रदर्शनकारी छात्रों ने उनसे शिक्षा मंत्री के यहाँ प्रतिनिधिमंडल भेजने का आग्रह किया।

थानाध्यक्ष ने ऊपर के अधिकारियों से बातचीत करने की कोशिश की और थोड़ी देर बाद कोतवाली थानाध्यक्ष चले गए। गुस्साए छात्रों ने बिहार बोर्ड से शिक्षा मंत्री आवास तक पैदल मार्च किया। इस दौरान रास्ते में कहीं मजिस्ट्रेट या पुलिस के जवान नहीं दिखे।शिक्षा मंत्री आवास के तुरंत पहले कुछ जवान बिना ड्रेस के गंजी में ही प्रदर्शनकारी छात्रों से भिड़ने की कोशिश की लेकिन छात्र शिक्षा मंत्री के आवास पर ही जाकर रुके।शिक्षा मंत्री के आवास पर छात्रों की प्रदर्शन की जानकारी पाकर सचिवालय थाने की दो जिप्सी पुलिस शिक्षा मंत्री आवास पहुंची।छात्र शिक्षा मंत्री से मिलवाने तथा समय दिलवाने की माँग कर रहे थे तो सचिवालय थाने की पुलिस छात्रों से झंडा बैनर समेटने की बात कर रहे थे।कल पाँच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल शिक्षा मंत्री से समय मिलने के बाद छात्र जब आवास गेट पर से चलने को तैयार हुए तो सचिवालय थानाध्यक्ष शिक्षा मंत्री आवास पहुंचे।

इस दौरान सचिवालय थानाध्यक्ष ने प्रदर्शनकारी छात्रों से दुर्व्यवहार किया एवं जेल भेजने की धमकी देकर उकसाने का काम करने लगे।इस दौरान थानाध्यक्ष ने छात्र नेताओं के साथ अमर्यादित टिप्पणी एवं दुर्व्यवहार भी किया।प्रदर्शनकारी छात्रों एवं थानाध्यक्ष के बीच झड़प भी हुई।मौके पर मौजूद एआईएसएफ के राष्ट्रीय सचिव सुशील कुमार ने कहा कि शिक्षा मंत्री ने बुधवार को सभी उतीर्ण अभ्यर्थियों को बहाली प्रक्रिया में भागीदारी की बात कही है लेकिन शिक्षा मंत्री ने मार्च महीने में भी सभी उतीर्ण अभ्यर्थियों की बहाली एवं रिक्तियों के हिसाब से परीक्षाफल जारी करने की बात कही थी।शिक्षा मंत्री के घोषणाओं पर भरोसा नहीं है।वे लिखित नोटिफिकेशन जारी करवाएं।

एआईएसएफ के राज्य अध्यक्ष अमीन हमज़ा ने कहा कि सरकार एवं बोर्ड को हर हाल में पारदर्शिता का ख्याल रखना होगा अगर सब चीज सही है तो विषयवार,कोटिवार रिक्तियों के हिसाब से बोर्ड को कटऑफ जारी करने में क्या परेशानी है।संगठन के राज्य सह सचिव जन्मेजय कुमार ने कहा कि अगर हमारी मांगों को नहीं माना जाता है तो एआईएसएफ आनेवाले दिनों में पूरे राज्य में उग्र एवं चरणबद्ध आंदोलन करेगा।प्रदर्शन में एआईएसएफ के राज्य परिषद सदस्य उत्तम कुमार,कैसर रेहान,जिला उपाध्यक्ष तौसीक आलम,अदित्य राकेश,प्रिंस राज,शशिकांत कुमार,धर्मेन्द्र क्रान्ति,कृष्ण मुरारी, गौतम कुमार,दीपक कुमार,बन्टी कुमार,छोटू कुमार, दानिश,अदन कुमार,अभिषेक कुमार,सिपाही लाल,सलमान सहित दर्जनों अभ्यर्थी मौजूद रहे।
रिपोर्ट :मोहम्मद शाहनवाज अता

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here