मुखिया द्वारा काफी दिनों से रची जा रही पंचायत सचिव को फंसाने की साजिश

Advertisement

वाणीश्री न्यूज़, बिदुपुर। पिछले दिनों बिदुपुर के नवानगर में शिक्षक नियोजन मेधा सूची पर जाली हस्ताक्षर करने का मामला तूल पकड़ा था जिस कारण शिक्षक नियोजन को भी रद्द कर दी गई थी और प्रखंड विकास पदाधिकारी द्वारा उक्त पंचायत सचिव से स्पष्टीकरण की मांग की गई थी। विदित हो कि नवानगर पंचायत के मुखिया राम नरेश भगत ने बिदुपुर प्रखंड विकास पदाधिकारी को आवेदन देकर पंचायत शिक्षक नियोजन में गड़बड़ी की जांच की मांग की थी।

इस संबंध में मुखिया राम नरेश भगत ने बीडीओ को दिए लिखित आवेदन में आरोप लगाया था कि उनके पंचायत में कार्यरत पंचायत सचिव शैलेंद्र प्रसाद सिंह के द्वारा पंचायत शिक्षक नियोजन की मेघा सूची पर जाली हस्ताक्षर अंकित किया है। बताते चलें कि मुखिया द्वारा पंचायत सचिव को फंसाने की साजिश काफी दिनों से चल रही थी जिस कारण मुखिया द्वारा जगह जगह अलग अलग तरीके से हस्ताक्षर करना एक अहम सबूत है।

Advertisement

एक व्यक्ति द्वारा विभिन्न तरीके से हस्ताक्षर करना और फिर बाद में आवेदन देकर पंचायत सचिव पर हस्ताक्षर का फर्जीवाड़ा करने का आरोप लगाना कहां तक जायज है और इसके कारण शिक्षक नियोजन जैसे सरकार के महत्वपूर्ण कार्य में बाधा डालना कहां तक सही है। अब देखना यह है कि प्रशासन इस पर क्या कदम उठाती है?

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here