BiharCrimeMuzaffarpurNational
Trending

दुकान फूंकने पर बवाल पुलिस पर हमला,25 गिरफ्तार

चंदन कुमार
मुजफ्फरपुर: गायघाट व हथौड़ी थाना की सीमा पर स्थित प्रयागबारी में गुरुवार को भारी बवाल हुआ। छेड़खानी की पीड़िता के पिता की दुकान फूंक दिए जाने के विरोध में सड़क जाम कर रहे ग्रामीणों व पुलिस में झड़प हो गई। ग्रामीणों ने पुलिस पर रोड़ेबाजी की तो पुलिस ने भी लोगों पर जमकर लाठियां चटकायी। हमले में दर्जन से अधिक ग्रामीण जख्मी हो गए। दूसरी ओर गायघाट थानाध्यक्ष समेत सात पुलिसकर्मी भी घायल हो गए। घायलों में अद्धसैनिक बल के जवान भी शामिल हैं। करीब छह घंटे तक बवाल चला। इस दौरान पुलिस ने 25 महिला-पुरुष को हिरासत में लिया है। घटना के बाद से प्रयागबाड़ी पुलिस छावनी में तब्दील है।मामले में गायघाट थानाध्यक्ष ने बताया कि गांव के दो पक्ष एक दूसरे पर एफआईआर कराए हुए हैं।

गायघाट थाने में छेड़खानी का मामला दर्ज है। जबकि दूसरे पक्ष ने हथौड़ी थाने में केस कराया था। छेड़खानी के केस की आईओ आशा देवी कर्ण मामले की अनुसंधान कर रही हैं। अबतक जांच पूरी नहीं हुई है। इस बीच बुधवार रात छेड़खानी पीड़िता के पिता की दुकान फूंक दी गई। इससे आक्रोशित ग्रामीणों ने दूसरे पक्ष पर आरोप लगाते हुए सड़क जाम कर दिया। समझाने गई पुलिस पर हमला कर दिया। इसमें उनके अलावा सात पुलिसकर्मी घायल हो गए। इसके बाद पुलिस ने भी सख्ती बरतते हुए सभी को खदेड़ दिया। 25 महिला-पुरुष को बोचहां थाने पर रखकर पूछताछ की जा रही है। पुलिस पर हमला मामले में एफआईआर दर्ज की जाएगी। दूसरी ओर ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस एकपक्षीय कार्रवाई कर रही है। ग्रामीणों पर लाठीचार्ज की और घर से खींच कर महिलाओं को भी पीटा गया।

पहले से दर्ज है दो एफआईआर
प्रयागबारी में पिछले माह छेड़खानी की घटना हुई। इसको लेकर दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर एफआईआर करायी थी। एक केस में पॉस्को एक्ट व हत्या के प्रयास की धारा लगी थी। पीड़ित पक्ष का आरोप है कि एफआईआर के बाद पुलिस ने कार्रवाई नहीं की। केस उठाने को लेकर लगातार दबाव बनाया जा रहा था।

रात में फूंकी दुकान, सुबह से दोपहर तक बवाल
छेड़खानी पीड़िता के पिता की जेनरल स्टोर की दुकान को बुधवार रात फूंक दी गई। गुरुवार सुबह पीड़ित पक्ष ने पुलिस को सूचना दी और करीब छह बजे प्रयागबाड़ी चौराहा को जाम कर दिया। इससे हथौड़ी, रामनगर, भूसरा व शिवदासपुर जाने वाली सड़क पर आवागमन ठप हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने बल प्रयोग कर जाम हटाने का प्रयास किया। लेकिन पीड़ित पक्ष आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़ गये। दोनों तरफ से नोकझोंक शुरू हुई। इसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज शुरू कर दिया। दूसरी तरफ से आक्रोशित भीड़ ने रोड़ेबाजी कर दी। बाद में डीएसपी पूर्वी मनोज पांडेय व इंस्पेक्टर मिथिलेश झा समेत बड़ी संख्या में पुलिस बल पहुंची। इसके बाद पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी।

दुकान फूंके जाने की घटना के बाद पुलिस पर साजिशन हमला किया गया। एक हवलदार का जबड़ा तोड़ दिया गया। थानेदार, सिपाही व अर्द्धसैनिक बल के जवान चोटिल हैं। 25 महिला-पुरुष गिरफ्तार है। गायघाट थाने में केस दर्ज किया गया है। -मनोज पांडेय, डीएसपी ईस्ट

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
Close
%d bloggers like this: