भारत का गांव आज भी न्यूटन,गैलीलियो,एडिसन बनाने में सक्षम : कुशवाहा

Advertisement

वैशाली का लाल रिशु राज बना सबसे कम उम्र का बेवसाइट डेवलपर,सौ से ज्यादा बेवसाइट बना विश्व कीर्तिमान स्थापित किया

रिपोर्ट: मोहम्मद शाहनवाज अता, हाजीपुर(वैशाली)। बिहार राज्य प्रारंभिक शिक्षक संघ वैशाली का एक शिष्टमंडल महुआ प्रखंड के विशनपुर बेझा के रहने वाले वर्ग 10 का छात्र रिशुराज जिसने सबसे कम उम्र में है 100 से ज्यादा वेबसाइट डेवलपर बन कर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है उसके घर जाकर मिठाई खिलाया और बधाई दिया।संघ के जिला सचिव पंकज कुशवाहा ने रिशुराज को मोमेंटो एवं अंग वस्त्र देकर सम्मानित करते हुए कहा कि ग्रामीण परिवेश एवं साधारण परिवार से आने वाले रिशु राज ने घर बैठे बैठे जो भी विश्व कीर्तिमान स्थापित किया है यह असाधारण प्रतिभा की पहचान है।

Advertisement

श्री कुशवाहा ने कहा कि सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में जहां काफी अभाव है वह इस प्रकार का कीर्तिमान किसी चमत्कार से कम नहीं है।उन्होंने सरकार से मांग किया कि ऐसे बच्चे को सरकार आइकॉन बनाते हुए सभी साधन मुहैया कराए ताकि रिशु राज आगे चलकर पूर्व के बने हुए अन्य विश्व कीर्तिमान को तोड़कर नया इतिहास बना सके।

भारत के हर गांव में प्रतिभा छिपी हुई है।सरकार प्रतिभा खोजने में सक्षम नहीं है तो कम से कम जो प्रतिभा उभर रही है उसको ससमय सब साधन मुहैया कराए तो निश्चित रूप से आज भी भारत का गांव एडिशन,गैलीलियो ,न्यूटन जैसा वैज्ञानिक देने में सक्षम है।

इस अवसर पर संघ के महुआ प्रखंड अध्यक्ष अशर्फी दास एवं राजापाकर प्रखंड के अध्यक्ष वकील राय ने अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया।मौके पर प्रखंड सचिव अरुण कुमार, शिवनाथ कुमार, सुनील कुमार सिंह, रविंद्र राय, मुकेश कुमार, जगरनाथ कुमार, अमिताभ कुमार, राघवेंद्र कुशवाहा , सेवानिवृत्त शिक्षक मुक्तिनाथ सिंह व अन्य शिक्षक,समाजसेवी एवं बुद्धिजीवी उपस्थित थे।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here