मुख्य सचिव के निर्देश पर बिदुपुर प्रखण्ड अंतर्गत विभिन्न पंचायतों का किया गया निरीक्षण

Advertisement

वाणीश्री न्यूज़, बिदुपुर। मुख्य सचिव बिहार सरकार के आदेश बिदुपुर प्रखंड के कई पंचायतों में पदाधिकारियों द्वारा जांच की गई। इस क्रम में उनके द्वारा पंचायत सरकार भवन, पंचायत भवन, पुस्तकालय, आंगनबाड़ी केंद्र, स्वास्थ्य केंद्र, जन वितरण प्रणाली की दुकान, अमृत सरोवर, ग्रामीण सड़क संबंधी विषयों की स्थिति का स्थल निरीक्षण किया गया।

बताते चलें कि बिदूपुर प्रखंड के रहिमापुर और कंचनपुर पंचायत में एसडीसी श्रीमती सोनाली रजासन और माइल पंचायत में प्रखंड विकास पदाधिकारी किरण कुमारी द्वारा विभिन्न योजनाओं की जांच की गई। कंचनपुर पंचायत में जांच के क्रम में एसडीसी श्रीमती सोनाली द्वारा पंचायत के विभिन्न योजनाओं की जांच की।

Advertisement

इस क्रम में मनरेगा अंतर्गत हो रहे कार्यों की जांच की जिसमें उपस्थित मजदूरों का जॉब कार्ड की जांच किया। जांच के क्रम में मजदूरों का जॉब कार्ड नहीं मिलने पर बिफर पड़ी और इसका कारण जाना। इस पर बताया गया कि अभी जॉब कार्ड नहीं बनाया जा रहा है।

वही रहीमापुर पंचायत में जांच के क्रम में सर्वप्रथम रहीमापुर हाई स्कूल की जांच की जिसमें विद्यालय की व्यवस्था को देखते हुए उन्होंने सराहना किया। जिसके बाद पीडीएस की दुकान में जांच करने पहुंची जहां जांच के क्रम में स्टॉक की रसीद की मांग की गई जो उपलब्ध नहीं कराया जा सका।

वहीं मनरेगा की जांच के क्रम में कच्चा नाला का निर्माण को देखकर वे बिफर पड़ी नाला का निर्माण सही से नहीं था कही कम गड्ढा था तो कहीं कहीं उसे बंद कर दिया गया था। जिसपर उन्होंने कहा कि इस कार्य से कोई फायदा नहीं है पैसे की बर्बादी है। वहीं नहर के बांध निर्माण की जांच के क्रम में मजदूरों का लेबर कार्ड की जांच की।

जांच के क्रम में मात्र दो लेबर का जॉब कार्ड मिला जिसमे भी भरा हुआ नही था। इसपर उन्होंने सुबोध कुमार से इसके बारे में पूछताछ की जिसपर सुबोध कुमार ने बताया कि सब को कार्ड दिया गया है।

वहीं दूसरी और प्रखंड विकास पदाधिकारी जांच के क्रम में माईल आंगनबाड़ी केंद्र पर पहुंची जहां की व्यवस्था और पढ़ाने की शैली की सराहना की। जिसके बाद पीडीएस की जांच के क्रम में स्टॉक रजिस्टर और सेल रजिस्टर की जांच की जिसमे पाया गया कि जुलाई का राशन वितरण हो चुका था। वही राजासन में आंगनबाड़ी में तीस बच्चों के नामांकन में 25 बच्चों की उपस्थिति थी और मेन्यू के अनुसार खाना भी दिया गया था।

रजासन पंचायत भवन की स्थिति काफी अच्छा पाया लेकिन माइल पंचायत भवन की स्थिति काफी जर्जर मिली। कारण पूछने पर पंचायत सचिव के द्वारा बताया गया कि अभी तक चार्ज नहीं मिला है जिस पर पूर्व के पंचायत सचिव को 10 दिनों के अंदर चार्ज देने का निर्देश दिया गया अन्यथा निलंबन को लेकर कार्रवाई की जाएगी।

वहीं ग्रामीण सड़क योजना की जांच रजासन में करने पर पाया कि लगभग बाईस सौ फीट सड़क है जो काफी जर्जर स्थिति में है । स्थानीय लोग द्वारा बताया गया कि बरसात के दिनों में उसमें तीन से 4 फीट का गड्ढा हो जाता है जिससे काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है जिस पर प्रखंड विकास पदाधिकारी किरण कुमारी ने बताया कि इसके लिए जिला अधिकारी को पत्र लिखेंगे क्योंकि सड़क की लंबाई काफी है जो कि ग्राम पंचायत के द्वारा नही बनवाया जा सकता है और ना ही समिति द्वारा।

वही पकौली उप स्वास्थ्य केंद्र की जांच के क्रम में वहां की स्थिति काफी दयनीय पाई गई। एक भी कर्मी उपस्थित नहीं पाए गए। इसके बारे में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी बिदुपुर से पूछताछ करने पर उन्होंने बताया गया कि कर्मियों का ओपीडी के समय रहना है और ओपीडी का समय 2:00 बजे तक ही है।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here