टीएचआर के रूप में दूध का पैकेट किया गया वितरण

0
84
Advertisement

बिदुपुर प्रखंड के चकसिकंदर कल्याणपुर पंचायत अंतर्गत केंद्र चक जैनव,केन्द्र संख्या 20 पर भी 3 से 6 वर्ष के बच्चों (स्कूल पूर्व शिक्षा) के माता पिता के बीच टी एच आर के रूप में दूध का पैकेट वितरण किया गया। दूध वितरण करते समय आंगनवाड़ी सेविकाओं को बहुत ही परेशानियों का सामना करना पड़ता है।। क्योंकि विभाग द्वारा मेन आंगनवाड़ी केंद्र को मात्र 26 पैकेट और मिनी आंगनवाड़ी केंद्रों को 13 पैकेट ही उपलब्ध कराया गया जबकि मेन आंगनवाड़ी केंद्र पर 40 बच्चे एवं मिनी आंगनवाड़ी केंद्र पर 20 बच्चे होते हैं। ऐसी परिस्थिति में जनता को संभाल पाना सेविकाओं के लिए मुश्किल हो जाता है और विभाग द्वारा हर महीने भी दूध उपलब्ध नहीं कराया जाता।

साथ ही एक बार नहीं जब-जब विभाग द्वारा दूध उपलब्ध कराया जाता है तो मात्र 40 में 26, 20 में 13 पैकेट ही दिया जाता है।आखिर यह गलती किसकी है। क्यों बार-बार जनता के बीच सेविकाओं को ही पीसना पड़ता है। यह सारी जानकारी अखिल भारतीय आंगनवाड़ी कर्मचारी महासभा के प्रदेश महासचिव सविता कुमारी ने दिया। उन्होंने यह भी बताया कि दूध ही नहीं बल्कि जो गर्भवती, धात्री और 6 माह से 3 वर्ष के बच्चों के बीच कच्चा राशन पोषाहार के रूप में टीएचआर वितरण किया जाता था वह भी पूर्ण मात्रा में नहीं आती थी। वह भी आधी आवादी को ही देना था। फिर भी किसी तरह सेविका मैनेज कर पोषाहार वितरण करती थी। कहां-कहां सेविका जनता से मैनेज करके चले। इतनी मेहनत करने के बाद भी एक दो गांव को लोग खरी-खोटी सुना ही देते हैं। वह यह जानने की कोशिश नहीं करते कि यह लोग के ऊपर भी विभाग है। विभाग के आदेशानुसार ही यह लोग कोई भी काम करेंगे।

Advertisement

बहुत सारे लोग जन्म मृत्यु के लिए भी सेविका से उलझते रहते हैं ।उनकी मृत्यु गांव से बाहर किसी हॉस्पिटल में होती है और वह मृत्यु प्रमाण पत्र गांव में बनाने के लिए सेविका को मजबूर करते हैं। जबकि नियम है कि जो बच्चे जहां जन्म लेंगे जो मृतक की जहां मृत्यु होगी उनका प्रमाण पत्र वहीं बनेगा।यह सभी जानकारी होने के बावजूद सेविकाओं पर लोग गलत तरीके से प्रेशर बनाते हैं,जो कि सरासर गलत है। वही कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए सभी अभिभावक मास्क में दिखें। छूटे हुए सभी लाभार्थियों को सविता ने टीका लेने के लिए कहा।यह भी कहा कि जिनका जिनका को वैक्सीन का दूसरा डोज का समय आ गया है वह कल पंचायत भवन चकसिकंदर पर जाकर ले लेंगे। जो 18 वर्ष से 45 वर्ष के बीच है वह रजिस्ट्रेशन करावे और टीका लगवाएं।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here