BidupurBiharNationalVaishali
Trending

निर्माणाधीन सिक्स लेन पूल को लेकर अधिग्रहित जमीन को सदर एसडीओ हाजीपुर के नेतृत्व में सशस्त्र बलों के जवानो की निगरानी पर लगभग डेढ़ दो किलो मीटर लंबी भूमि पर चला बुलडोजर

न्यूज़ डेस्क, बिदुपुर। बिदुपुर थाना के मथुरा गांव से लेकर नान्हकचक आदि गांवों में निर्माणाधीन सिक्स लेन पूल को लेकर अधिग्रहित जमीन को सदर एसडीओ हाजीपुर के नेतृत्व में सशस्त्र बलों के जवानो की निगरानी पर लगभग डेढ़ दो किलो मीटर लंबी भूमि पर बुलडोजर चलवाया गया,जिसके कारण सैकड़ो केला के घौद और आम के पौधे बर्बाद होने के आरोप किसानों के द्वारा लगाया गया।किसानो द्वारा आरोप लगाया गया कि मामला उच्च न्यायालय में लंबित है,उसके बाद भी प्रशासन के द्वारा बिना सूचना के उनलोगों के जमीन पर बुल डोजर चलवाया गया,जिसके कारण लगभग पांच सौ से अधिक केला के घौद बर्बाद हो गए,जबकि छठ पर्व काफी निकट है,वही आम के पेड़ भी बर्बाद हो गए।वही उनलोगों का राशि का भुगतान भी नही हुआ है ,बिना राशि भुगतान किए,बिना सूचना के उनलोगों के भूमि को प्रशासन द्वारा कब्जा किया जा रहा है।

विदित हो कि निर्माणाधीन कच्ची दरगाह एवम बिदुपुर के बीच गंगा नदी पर सिक्स लेन पूल को लेकर पूर्व में भी प्रशासन द्वारा कई बार पहल किये जा चुके है।बुधवार के दोपहर में लगभग एक बस सशस्त्र बलों के साथ सदर एसडीओ संदीप शेखर प्रियदर्शी ,सीओ के प्रतिनिधि प्रभारी सी आई मनीष कुमार,स्थानीय पुलिस पदाधिकारी गण मथुरा पहुंचे और हाजीपुर महनार मुख्य मार्ग से दक्षिण दिशा गंगा नदी की ओर जाने वाली दिशा में बुलडोजर चलाना शुरू कर दिया।जिसके कारण अफरातफरी मच गई।किसानो की भीड़ धीरे धीरे जुटने लगे परन्तु सभी प्रशासन के निकट वेबश नजर आए और जमीन के निकट से भाग गए।प्रशासन के देख रेख में पूरे दक्षिण दिशा में काफी देर तक बुलडोजर चलता रहा और लोग देखते रहे।
इस सम्बन्ध में किसानों द्वारा बिना सूचना के जमीन पर कब्जा करने का आरोप प्रशासन पर लगाया गया।

क्या कहते है किसान।
मथुरा निवासी चंद्रभूषण सिंह उर्फ चुन्नू सिंह ने आरोप लगाया है कि उनके पांच सौ घौद केला का बर्बाद कर दिया गया।जबकि छठ पर्व निकट में है।लगभग सात एकर भूमि पर बुधवार को बुलडोजर चलाने का आरोप लगाया,जिसके कारण केला एवम आम के पौधे बर्बाद हो गए।उन्होंने बताया कि उनका कुल 12 एकर भूमि का प्रशासन द्वारा अधिग्रहण किया जा रहा है,जबकि इसके विरुद्ध मामला उच्च न्यायालय में लंबित है,उसके बाद भी कार्रवाई किया गया।

इसी तरह की शिकायत पवन कुमार सिंह,अरविंद कुमार सिंह,राणा सिंह,चिप्पू सिंह,सुमन सिंह,विनोद सिंह,विन्दा सिंह ने भी किये।वही रामदयाल सिंह ने आरोप लगाया कि बिना सूचना के उनके घर को तोड़ दिया गया है,जिसके कारण वे बेघर हो गए है।जबकि राशि का भुगतान भी नही हुआ है। वही किसान श्री सम्मान से सम्मानित चंद्रभूषण सिंह ने आरोप लगाया की प्रशासन द्वारा किसानों के साथ ज्यादती की गई है।जबकि मामला उच्च न्यायालय में लंबित है।सूचना देने के बाद प्रशासन द्वारा कार्रवाई करनी चाहिए थी।

पूल निर्माण कार्य मे तेजी लाने के उधेश्य से प्रशासन द्वारा अधिग्रहित भूमि को कब्जे में लेकर निर्माण करने वाली एजेंसी को भूमि सौंपी जा रही है ताकि समय पर पूल निर्माण कार्य और सम्पर्क पथ भी पूरा हो सके।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
Close
%d bloggers like this: