BiharMuzaffarpurNational

महमदपुर कोठी में भारी बवाल, रोड़ेबाजी व लाठीचार्ज में दर्जनों घायल

रिपोर्ट: चंदन कुमार, मुजफ्फरपुर। महमदपुर कोठी पुल के पास सुबह 3:20 बजे बांध टूटने के बाद इलाके में अफरातफरी मच गई। बूढ़ी गंडक की धारा तिरहुत नहर की ओर मुड़कर टूटे बांध से तेजी से फैलने लगी। लोग जान माल को बचाने में जुट गए। दोपहर में वहां भारी बवाल हुआ। रोड़ेबाजी, भगदड़ व लाठीचार्ज में महिला मुखिया, पुलिस कर्मी समेत दजनों लोग घायल हो गए। करीब तीन घंटे तक वहां रणक्षेत्र बना रहा।बताया गया कि पूर्वी बांध टूटने के बाद पश्चिमी बांध से रिसाव होने लगा जिसे बचाने में लोग जुटे थे।

इसी बीच लोग टूटे बांध का दायरा बढ़ाने के लिए पूर्वी तटबंध पर जेसीबी से बांध काटने लगे। इसको लेकर दो गांव में बवाल हो गया। दोपहर में डीएम भी प्रशासनिक टीम के साथ पहुंचे। दोनों ओर से रोड़ेबाजी होने लगी। पुलिस ने भी लाठीचार्ज शुरू की। बवाल बढ़ता देख डीएम ने पुलिस को सख्ती बरते हुए स्थिति को काबू करने का नर्दिेश दिया। इसके बाद विरोध कर रहे ग्रामीणों को पुलिस ने खदेड़-खदेड़ कर पीटा।

पिलखी की मुखिया सीता देवी, जदयु नेत्री सह पैक्स अध्यक्ष प्रज्ञा कुमारी का आरोप है कि डीएम और एसएसपी की उपस्थिति में जेसीबी से टूटे बांध के पास बांध काटा जा रहा था। इसका विरोध करने पर अधिकारियों की मौजूदगी में बेरहमी से पुलिस ने पीटा। घायल मुखिया व नीतीश कुमार मुरौल अस्पताल में भर्ती हैं। प्रज्ञा कुमारी, सविता देवी का इलाज घर पर चल रहा है। दर्जनों जख्मी ग्रामीण केस के डर से घर निजी स्तर पर इलाज करा रहे हैं। वहीं बाढ़ का पानी मुजफ्फरपुर पूसा मार्ग पर चढ़ गया है। इससे समस्तीपुर इलाके से संपर्क कट गया है। रेलवे लाइन पर दबाव बना हुआ है। पानी एनएच 28 की ओर तेजी से बढ़ रहा है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
%d bloggers like this: