BiharMuzaffarpurNational
Trending

मुजफ्फरपुर के औराई में तेंदुए का हमला, दर्जन भर घायल

चंदन कुमार, मुजफ्फरपुर:बागमती बांध के अंदर की सरहंचिया पंचायत के मधुबन प्रताप गांव में बुधवार रात 10 बजे तेंदुए ने अचानक हमला कर दिया। दरवाजे पर बैठे एक व्यक्ति को जख्मी कर दिया। खदेड़ने पर कई घरों में घुसकर उस तेंदुए ने लगभग दर्जनभर लोगों को घायल कर दिया। घटना से गांव में अफरातफरी मच गई।

लोग मशाल जला लाठी, भाला, फरसा आदि लेकर तेंदुए को रात 11 बजे तक खोजते रहे। तेंदुए के हमले में गांव के हीरा सहनी, मालती देवी, छोटन सहनी, सुनीता देवी, रंभा देवी, शीला देवी, रवि कुमार, नथुनी सहनी, राजू सहनी आदि घायल बताये जा रहे हैं। ग्राम कचहरी सचिव सह ग्रामीण चिकत्सिक लालबाबू सहनी ने सभी घायलों का तत्काल प्राथमिक इलाज किया। बाढ़ प्रभावित गांव होने के कारण यहां आवागमन की समस्या है जिसके कारण घायलों को इलाज के लिए बाहर नहीं ले जाया जा सका है।

गांव में चारों तरफ अफरातफरी का माहौल देर रात तक बना रहा। तेंदुआ इधर-उधर दौड़कर छिप जा रहा है। घटना के बाद गांव में भय व दहशत का माहौल बना हुआ है। मुखिया मनीष कुमार ने बताया कि लोगों से घर में रहने की अपील की जा रही है। घायल का स्थानीय स्तर पर ही इलाज कराया जा रहा है। घायलों ने बताया कि तेंदुआ काफी बड़ा है। पहले तो लोगों को लगा कि गीदड़ ने काट लिया है। लेकिन जब खोजबीन की गई तब तेंदुआ दिखा। लोगों के खदेड़ने पर वह हमला कर दिया। ग्रामीण रतजगा कर रहे हैं।

बागमती के किनारे गुड़हन में छिपा तेंदुआ :ग्रामीणों ने बताया कि टोले से निकलकर तेंदुआ बागमती के किनारे गुड़हन (मूंज की प्रजाति का खर-पतवार) में छिप गया है। मधुबन प्रताप गांव बागमती बांध के अंदर है। यहां जाने-आने के लिए पूर्व में चचरी पुल बना था जो इस बार बागमती की धारा में ध्वस्त हो गया है। लोगों को गांव में आने-जाने के लिए सर्फि नाव का ही सहारा बचा है।

बागमती तटबंध नर्मिाण के साथ ही दोनों तटबंध के बीच से बागमती की मुख्य धारा के साथ दो उप धारा बह रही है। इसके अंदर गुड़हन उपजा है। इसमें जंगली जानवरों का बसेरा है। इससे पूर्व औराई की ही महेशवारा पंचायत के चैनपुर में भी पिछले वर्ष तेंदुआ दिखा था। पिछले वर्ष कटरा में बागमती के किनारे दिखे तेंदुए को ग्रामीणों ने मार दिया था।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
Close
%d bloggers like this: