JaisinghpurNationalSultanpurUttar Pradesh

वर्षों के पानी से चार सौ बीघे में लगे फसल डूबकर हुआ नष्ट मुआबजे की मांग

।*सहदेई बुजुर्ग* – सहदेई बुजुर्ग प्रखंड के सलहा पंचायत के महम्मदपुर पोहियारी गांव चौर में लगभग पांच सौ बीघा में लगी धान एवं मक्के की फसल वर्षा के पानी में डूबकर खराब हो गई है। किसानों के अनुसार महम्मदपुर पोहियारी गांव में लगभग 400 परिवारों का जीविकोपार्जन का मुख्य साधन खेती ही है।सभी लोग गांव के चौर में ही खेती कर अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं।बताया कि लगातार हो रही वर्षा के कारण खेतों में जलजमाव हो गया है।साथ ही वाया नदी का जलस्तर ज्यादा होने से चौर का पानी नदी के रास्ते नहीं निकल पा रहा है।इस कारण से फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है।बताया कि चौर में सात सौ बीघा में से लगभग पांच सौ बीघा में धान की खेती की जा रही थी।लेकिन वर्षा के कारण हुए जलजमाव को लेकर लगभग सभी धान का खेत पानी में पूरी तरह डूब चुका है।जिस कारण धान का बिचड़ा खराब हो गया है।इन किसानों ने कहां की जैसे तैसे कर्ज आदि लेकर रुपए का इंतजाम कर किसान खेती करते हैं और जिस प्रकार फसल खराब हुई है उससे इन सभी लोगों को भारी क्षति उठानी पड़ रही है।महम्मदपुर पोहियारी गांव निवासी रविंद्र कुमार राय,सरोज राय,प्रमोद कुमार राय उर्फ जागो राय ,सन्नी कुमार,उज्जवल कुमार,रंजीत राय,मुन्ना राय,विनोद राय,मनसारो देवी,मुकेश कुमार,जितेंद्र कुमार आदि किसानों ने जिला प्रशासन एवं राज्य सरकार से आग्रह किया है कि उन सभी लोगों को फसल क्षति का सर्वे कराकर मुआवजा दिया जाए ताकि नुकसान की भरपाई हो सके।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
Close
%d bloggers like this: