BiharDesriNationalVaishali
Trending

सहदेई बुजुर्ग ओपी के कुम्हरकोल गांव में राकेश कुमार सिंह के शव पहुचते ही परिजनों में मचा कोहराम

रिपोर्ट: अमित कुमार, सहदेई बुजुर्ग। सहदेई बुजुर्ग ओपी के चकफैज पंचायत के कुम्हरकोल गांव निवासी 30 वर्षीय युवक की मौत दिल्ली में सड़क दुर्घटना में हो गई। गांव में शव पहुंचते ही परिजनों में कोहराम मच गया। चकफैज पंचायत के कुम्हरकोल गांव निवासी लालबाबू सिंह के 30 वर्षीय पुत्र राकेश कुमार सिंह की मौत दिल्ली में सड़क दुर्घटना में हो गई।

बताया गया कि राकेश कुमार सिंह लगभग 10 वर्षों से दिल्ली में ही रहकर प्राइवेट कंपनी में ठीकेदारी का काम करते थे। मंगलवार के दिन जब वह दिल्ली के बवाना स्थित अपने घर से कंपनी में ड्यूटी के लिए जा रहे थे। इसी दौरान एक तेज रफ्तार बोलेरो गाड़ी ने उन्हें धक्का मार दिया जिसके बाद स्थानीय लोगों ने उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया जहां इलाज के दौरान राकेश कुमार सिंह की मौत हो गई।

राकेश कुमार सिंह के दुर्घटना में हुई मौत की सूचना जब परिजनों को मिली तो घर में कोहराम मच गया। पिता लालबाबू सिंह एवं माता ललिता देवी सहित अन्य परिजन के चीत्कार से पूरा वातावरण गमगीन हो गया।बुधवार को राकेश कुमार सिंह का शव गांव पहुंचते ही पूरे गांव में मातमी सन्नाटा पसर गया। राकेश कुमार सिंह को एक पुत्री है। वह तीन भाइयों में सबसे छोटा था। राकेश के बड़े भाई जितेंद्र कुमार सिंह भी लगभग 20 वर्ष पहले घर से लापता हो गए थे।

उनका अभी तक कोई पता नहीं चल सका है। घर पर केवल एक भाई मुकेश कुमार सिंह रहते हैं। राकेश की मौत पर स्थानीय जिला पार्षद मनिंद्र नाथ सिंह, मुखिया सुभाष सिंह, पूर्व मुखिया ऋषिकेश सिंह, जीत नारायण सिंह, सीतेश कुमार सिंह, विजय सिंह, भोला सिंह, जगदीश सिंह, पंकज कुमार आदि ने गहरा शोक प्रकट करते हुये सरकार से मुआवजा की मांग किया है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
Close
%d bloggers like this: