BiharHajipurJandahaNationalVaishali
Trending

75 शिक्षकों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा : कुशवाहा

हड़ताली शिक्षकों का वेतन रोकना हथौड़ा बरसाने के समान : उत्पलकांत

न्यूज़ डेस्क, वैशाली। 78 दिनों के हड़ताल समाप्ति के बाद बिहार राज्य प्रारंभिक शिक्षक संघ वैशाली जिला इकाई के द्वारा विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक की गई।बैठक में सभी सदस्यों ने ब्रजनंदन शर्मा और सरकार के खिलाफ जमकर हमला बोला।बैठक को संबोधित करते हुए जिला सचिव पंकज कुशवाहा ने हमलावर अंदाज में प्रदेश संघर्ष समन्वय समिति से ब्रजनंदन शर्मा को निकालने के साथ-साथ किसी भी विधान परिषद् सदस्य को घरियाली आंसू नहीं बहाने का सुझाव देते हुए कहा कि ब्रजनंदन शर्मा बिकाउ और गद्दार है।

वहीं सरकार पर हमला कर कहा कि सरकार भी कोई देशभक्त नहीं बल्कि वह भी उसी श्रेणी का किरदार निभाया है।जो कभी माफ नहीं किया जा सकता।सरकार पर जमकर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार तीन महीना और शिक्षकों के छाती पर मूंग दल ले।उसके बाद बिहार के लाखों नियोजित शिक्षकों से अपनी छाती को बकुला दलवाने के लिए मजबूत कर ले।उन्होंने दो टूक अंदाज में कहा कि हड़ताल अवधि में 75 नियोजित शिक्षकों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा और सरकार के समर्थक एक-एक प्रतिनिधि को इसका करारा जवाब देना होगा।

वहीं जिलाध्यक्ष उत्पलकांत ने कहा कि हड़ताल अवधि के पूर्व का वेतन,लाॅकडाउन अवधि का वेतन रोक कर शिक्षकों पर हथौड़ा बरसाया जा रहा है।उन्होंने फरवरी,मार्च,अप्रैल का वेतन देने,माहे रमज़ान में मुस्लिम शिक्षकों को क्वारेंटाइन सेन्टर पर नियुक्त नहीं करने के साथ-साथ रात्रि अवधि में क्वारेंटाइन सेन्टर पर किसी भी शिक्षक,शिक्षिकाओं को नियुक्ति नहीं करने की मांग सरकार से की है।विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा की गई बैठक की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष उत्पलकांत व संचालन जिला सचिव पंकज कुशवाहा ने की।जबकि बैठक में विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिला कोषाध्यक्ष रवींद्र कुमार,श्याम कुमार सत्यवादी,वकील राय,योगेंद्र राय,अशरफी दास,मोहम्मद अकबर अली,आनंद मोहन,मोहम्मद शाहनवाज अता,नितीश कुमार,अरूण कुमार,राणा अभय कुमार,मोहम्मद मुर्शिद,राघवेंद्र कुमार आदी ने भी विचार व्यक्त किए।
रिपोर्ट व फोटो मोहम्मद शाहनवाज अता

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
Close
%d bloggers like this: