BiharNationalSupaul
Trending

त्रिवेणीगंज के अनुपलाल यादव महाविद्यालय में मनाया गया अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस

मामला सुपौल जिला के त्रिवेणीगंज अनुमंडलीय मुख्यालय अंतर्गत अनुपलाल यादव महाविद्यालय की है।  21 सितंबर 2020 को एनएसएस को ऑर्डिनेटर डॉ0 अभय कुमार भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय लालू नगर मधेपुरा बिहार के निर्देशानुसार राष्ट्रीय सेवा योजना प्रथम द्वितीय तृतीय इकाई अनुपलाल यादव महाविद्यालय त्रिवेणीगंज सुपौल के संयुक्त तत्वाधान में अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस के अवसर पर महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ0 जयदेव प्रसाद यादव,की अध्यक्षता में कार्यक्रम पदाधिकारी प्रोफेसर विद्यानंद यादव,द्वारा कोविड-19 के कारण समाजिक दूरी को ध्यान में रखते हुए एक जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
प्राचार्य डॉ0 जयदेव प्रसाद यादव,ने बताया कि दुनिया के तमाम देशों और लोगों के बीच शांति व्यवस्था कायम रखने हेतु हम लोग अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस मनाते हैं।

भारत में शांति व्यवस्था कायम रखने हेतु पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू द्वारा पांच सिद्धांत दिए गए हैं जिसे हम पंचशील सिद्धांत के नाम से जानते हैं। पूरी दुनिया में शांति व्यवस्था कायम रखने हेतु हमें राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के सत्य और अहिंसा को अपनाना चाहिए परिवार से लेकर राष्ट्र तक शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए जाति धर्म संप्रदाय से अलग हट कर स्वयंसेवकों को लोगों में जागरूकता फैलाना चाहिए।
कार्यक्रम पदाधिकारी प्रोफेसर विद्यानंद यादव,ने बताया कि विकास का मूल आधार शांति है।
शांति के बिना परिवार समाज और राष्ट्र का विकास संभव नहीं है।
संपूर्ण संसार में शांति व्यवस्था कायम रखने हेतु हमें जाति धर्म और संप्रदाय से ऊपर उठकर लोगों के बीच भाईचारे का नाता अपनाना चाहिए। संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा संपूर्ण विश्व में शांति व्यवस्था कायम रखने हेतु वर्ष 1981,में अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस मनाने की घोषणा की गई।

सितंबर माह के प्रत्येक मंगलवार को अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस मनाया जाता था।
वर्ष 2002 में 21 सितंबर को अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस मनाने का निर्णय लिया गया वर्ष 2002 से विश्व स्तर पर शांति व्यवस्था कायम रखने हेतु 21,सितंबर को संपूर्ण संसार में अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस मनाया जाता है। कार्यक्रम में स्वयंसेवक सोनाली सिंह, मेघा राय,पूजा कुमारी,ने अपना विचार प्रकट किया कार्यक्रम में एनएसएस के स्वयंसेवक बुलबुल कुमारी,निधि कुमारी,सिंधु कुमारी, पूजा कुमारी,सुगंधा कुमारी,कल्पना कुमारी, सविता कुमारी,पिंकी कुमारी, सोनी कुमारी,लक्ष्मी कुमारी,मेघा, मनाली,वर्षा कुमारी, रूचि कुमारी, प्रीति दर्शन,अमिता कुमारी,नेहा कुमारी,अनुपम कुमार, राजू, गगन,अन्य दर्जनों उपस्थित थे।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
Close
%d bloggers like this: