NationalSultanpurUttar Pradesh

पंचायत स्तर पर नेतृत्व तैयार करेगा मोस्ट कल्याण संस्थान : श्यामलाल

ब्यूरो सुल्तानपुर 

सुलतानपुर – निषाद भवन विनोवापुरी में मोस्ट समाज के चिंतको द्वारा 25 वर्षों से त्रिस्तरीय पंचायतों में लागू आरक्षण के नफा-नुकसान की समीक्षा की गई। मीटिंग में चिंतकों ने इस आवश्यक्ता पर बल दिया कि पंचायतों में दिए गए संवैधानिक आरक्षण के अनुक्रम में मोस्ट समाज के उत्थान के लिए समर्पित साथियों को नेतृत्व सौंपकर मोस्ट समाज की 90 प्रतिशत स्थानीय समस्याओं का समाधान किया जा सकता है, किंतु चिंता का विषय है कि अभी तक पंचायत की अधिकांश सीटों पर मोस्ट समाज के उत्साही साथी बिना ठोस कार्य योजना के चुनाव में आपस मे लड़कर आर्थिक नुकसान के साथ-साथ स्थानीय स्तर पर नेतृत्व को कुंद करते हैं। मोस्ट की मीटिंग में निर्णय लिया गया कि मोस्ट कल्याण संस्थान सीएम, पीएम, सांसद-विधायक का सपना देखने-दिखाने से पहले स्थानीय स्तर पर ज्यादा से ज्यादा प्रधान, बीडीसी, जिला पंचायत सदस्य, प्रमुख बनाकर प्रत्येक स्तर पर न बिकने वाला, न झुकने वाला तथा कदम-कदम पर हक-अधिकार के लिए संघर्ष करने वाले समर्पित साथियों का नेतृत्व तैयार करने की दिशा में काम करेगा। मोस्ट कल्याण संस्थान के निदेशक शिक्षक श्यामलाल निषाद ‘गुरुजी’ ने कहा कि मोस्ट समाज के रणनीतिकारों से विचार-विमर्श कर ठोस रणनीति पर काम करते हुए मोस्ट समाज आपसी समन्वय, सहकारिता, सहयोग की भावना के सिद्धांत पर काम करते हुए अधिकांश पंचायत सीटों पर मोस्ट समाज के समर्पित साथियों को नेतृत्व प्रदान करने के साथ-साथ उन्हीं में से सांसद, विधायक लड़ने लायक नेतृत्व भी तैयार किया जा सकता है।

उप निदेशक राजकुमार गौतम ने कहा कि राजनीतिक दलों का यह कहना कि सुल्तानपुर में मोस्ट समाज का लोकसभा व विधानसभा का चुनाव लड़ने लायक नही है! तो मोस्ट कल्याण संस्थान आने वाले चुनावों में मोस्ट समाज से चुनाव लड़ने लायक बनाने की दिशा में काम करेगा।

सचिव रविकांत निषाद ने बताया मजबूत स्थानीय नेतृत्व की कल्पना को साकार करने के लिए जनपद सुल्तानपुर की ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत, जिला पंचायत की सभी सीटों का क्रमवार विचार मंथन शुरु किया जा चुका है। किन सीटों पर मोस्ट का उम्मीदवार जिताया जा सकता है। उसे चिन्हित कर उस गाँव-क्षेत्र में जल्द ही “सारे बंधन तोड़ो मोस्ट समाज जोड़ो’ की मीटिंग की जाएगी।

उक्त अवसर पर राम दयाल चौरसिया (अध्यक्ष नागवंशी समाज कल्याण संस्थान), आनन्द निषाद एडवोकेट, डॉ. अशोक कुमार वर्मा, विनोद गौतम एडवोकेट, संतराम निषाद (उत्तर रेलवे),नरेंद्र निषाद सहित दर्जनों लोग उपस्थित रहे।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
%d bloggers like this: