BidupurBiharNationalVaishali
Trending

नौनिहाल बच्चों पर न तो सरकार का ध्यान और ना ही स्थानीय प्रशासन का : सविता कुमारी

आईसीडीएस के अंतर्गत चल रहे आंगनबाड़ी केंद्र पर स्कूल जाने से पूर्व शिक्षा प्राप्त कर रहे नौनिहाल बच्चों पर न तो सरकार का ध्यान है और ना ही स्थानीय प्रशासन का। दोनों इन नौनिहालों के ऊपर होने वाले अनहोनी का इंतजार कर रहे हैं । आखिर इन मासूमों के जिंदगी के साथ खिलवाड़ करने का हक सरकार और पदाधिकारियों को किसने दिया है । जब बड़ों के लिए स्कूलों कॉलेजों में छुट्टी दी गई तो आखिर आंगनवाड़ी के इस नौनिहालों को क्यों नहीं दी?  क्या सरकार को ऐसा लगता है की आंगनवाड़ी में पढ़ रहे नौनिहाल बच्चों को गर्मी से लड़ने की शक्ति प्राइमरी, मध्य और हाई स्कूल में पढ़ रहे बच्चों से कहीं ज्यादा है? या फिर सरकार और पदाधिकारी आने वाले भविष्य को दरकिनार करती दिख रही है या कर रही है।

इन्ही बातों को ले कर बिहार  आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ की जिलाध्यक्षा सविता कुमारी ने जिलाधिकारी से मिल आँगनबाड़ी केन्द्रों को बंद करने के लिए जिलाधिकारी से मिल ज्ञापन दिया। उन्होंने अपने ज्ञापन में लिखा की सभी सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों में गर्मी को ले छुट्टी कर दी गई परन्तु आंगनबाड़ी केन्द्रों को बंद नही किया गया। आखिर किस अनहोनी का इन्तजार कर रही है सरकार और स्थानीय प्रशाशन।  यह बहुत ही विचाराधीन है।

वहीँ दूसरी और पदाधिकारियों द्वारा निरिक्षनोप्रांत कम बच्चे पाए जाने पर सेविका सहायिका को इस पर जबाब देना पड़ता है और कार्यालय का चक्कर लगाना पड़ता है । जो स्पष्ट है की लू से बचने के लिए अभिवावक बच्चों को केंद्र पर भेजना नहीं चाहते। ऐसे में सेविका सहायिका बिना गलती के सजा पाने के लिए तैयार रहती है। साथ ही साथ अभिवावक और पदाधिकारी के बिच पिसने को मजबूर हो जाती है। अतः बच्चों के स्वास्थ्य क ध्यान में रखते हुए सभी केन्द्रों में पठन- पाठन बंद रखने की अनुमति प्रदान करें।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
Close
%d bloggers like this: