BegusaraiBhagwanpurBiharNational
Trending

शिक्षकों का मूल प्रमाण पत्र हुआ गायब

मृत्युंजय कुमार, भगवानपुर (बेगूसराय)। प्रखंड अंतर्गत शिक्षक पात्रता परीक्षा 2011 पास कर शिक्षक बने प्रखंड और पंचायत शिक्षक नियोजन इकाइयों के गलतियों का खामियाजा भुगत रहे हैं। इसमें बी इ ओ भगवानपुर ने पत्रांक 159 दिनांक 27.05.2019 के आलोक में वर्ष 2011 के टी इ टी  शिक्षकों को मूल प्रति से सत्यापित करवाते हुए  प्रमाण पत्र की दो छाया प्रति जमा करने का निर्देश 29 मई 2019 तक दिया था। पुनः प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी ने पत्रांक 161 दिनांक 28.05.के तहत सभी नियोजन इकाई के सचिव को मूल प्रमाण पत्र वापस करने का निर्देश दिया था। प्रखंड नियोजन इकाई भगवानपुर द्वारा टीइटी एसटीइटी उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ द्वारा दिए गए ज्ञापन के आलोक में 100 में से 80 प्रखंड शिक्षकों  का ही मूल प्रमाणपत्र वापस किया गया। शेष शिक्षकों का प्रमाण पत्र वापस करने में नियोजन इकाई आना कानी कर रहा है।

इस संबंध में संघ के मीडिया प्रभारी विकास मिश्रा ने बताया कि  मध्य विद्यालय मल्हीपुर  के विकास कुमार, राजकुमार, चकसदात के अमित कुमार, पंकज कुमार, देवव्रत आर्य,  पवन कुमार चौरसिया, मृत्युंजय पाठक, पूनम कुमारी समेत दर्जनों शिक्षक के मूल प्रमाण पत्र गायब हो जाने से सात दिनों से कार्यालय का चक्कर काट रहे हैं। मध्य विद्यालय चेरिया के शिक्षक रामानुज चौरसिया का प्रमाण पत्र दीमक खा गया है।

पंचायत शिक्षक मृत्युंजय पाठक, राजेश कुमार, परवेज़ आलम आदि ने बताया कि 2014 के पंचायत सचिव का स्थानांतरण हो जाने और नए सचिव को पुराना प्रमाण पत्र नही सौपे जाने के कारण पंचायत शिक्षकों की समस्या और विकट हो गयी है। संघ ने आज पुनः बीडीओ को ज्ञापन देते हुए कहा है कि सभी प्रखंड और पंचायत शिक्षकों के मूल प्रमाण पत्र नही मिलने की सूरत में 10 जून 2018 से सम्बंधित शिक्षक  प्रखंड कार्यालय में भूख हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है। नियोजन इकाई की कुव्यवस्था को देखते हुए प्रखंड के उर्दू शिक्षक भी अपने प्रमाण पत्र के लिए चिंतित हैं।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
Close
%d bloggers like this: