नीतू के हत्यारे को 5 दिनों बाद पुलिस ने किया गिरफ्तार,प्रेम में नाकामी के बाद की गई नीतू की हत्या

Advertisement

वाणीश्री न्यूज़, हाजीपुर(वैशाली)। जिले के महुआ थाना क्षेत्र के चकफतेह गांव में हुए पिछले दिनो हुई एक छात्रा की हत्याकांड का मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है।हत्याकांड में शामिल तीन अभियुक्तो को जेल भेज दिया गया है।जबकि एक अभियुक्त फरार बताया जाता है।

मंगलवार को एस डी पी ओ महुआ पूनम केशरी ने अपने कार्यालय में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस के माध्यम से मामले की जानकारी दी।एस डी पी ओ पूनम केशरी ने बताया कि घटना के बाद इसे चुनौती के रुप मे लेते हैं जगह-जगह छापेमारी की गई।छापेमारी के दौरान छात्रा की हत्या में शामिल अभियुक्त को पकड़ने में एक बड़ी कामयाबी हासिल हुई।

Advertisement

छापेमारी के दौरान बांदे निवासी संजय सिंह को खगड़िया से, वही रहसा पूर्वी से राजीव कुमार के पुत्र अमन कुमार और गोरौल थाना क्षेत्र के छितरौली निवासी विरचंद्र प्रसाद सिंह के पुत्र विनय कुमार को गिरफ्तार किया गया। पूछताछ के दौरान राहुल सिंह ने बताया की उसके निशानदेही पर ही छात्रा की हत्या की गई थी। घटना में प्रयुक्त रिवॉल्वर को भी पुलिस ने बरामद कर लिया है। गिरफ्तार अभियक्तो ने बताया कि प्रेम प्रसंग में ही नीतू की हत्या की गई थी।हत्या का कारण प्रेम प्रसंग में असफलता बताई जाती हैं।

ज्ञात हो कि पिछले दिनों महुआ थाना अंतर्गत चकफतेह निवासी सुनील कुमार के 18वर्षीय पुत्री नीतू कुमारी की हत्या कोचिंग से घर लौटने के क्रम में गोली मारकर कर दी गई थी।इस मामले में मृतका के दादा विशेश्वर सिंह के द्वारा महुआ थाना में कई लोगों पर नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई थी।

वैशाली एसपी मनीष के निर्देश एक टीम का गठन किया गया जिसमें डीआईयू प्रभारी प्रशांत कुमार, अनि0 विनय कुमार व अनुसंधानकर्ता प्रशिक्षु पुलिस उपाधीक्षक कुमारी दुर्गा शक्ति के साथ महुआ थाना के अवर निरीक्षक संतोष कुमार पंकज,अभिषेक कुमार वर्मा के साथ गरौल थाना के पदाधिकारी विकास कुमार राजेश पंडित एवं सशस्त्र बल के साथ अन्य कर्मी शामिल थे सभी ने एक साथ टीम बनाकर उक्त मामले में संलिप्त राहुल कुमार, विनय कुमार तथा अमन कुमार को विभिन्न जगहों से छापेमारी के दौरान सफलता हासिल हुई।

गिरफ्तार आरोपियों के पास से एक मोटरसाइकिल और एक देसी कट्टा भी बरामद किया गया है।महुआ एसडीपीओ पूनम केसरी के कार्यालय आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान महुआ थाना अध्यक्ष प्रभात रंजन सक्सेना,पुलिस अवर निरीक्षक परशुराम सिंह आदि मौजूद मौजूद थे।

ज्ञात हो कि छात्रा की हत्या के बाद महुआ में जम कर बबाल हुआ था।हर हर तरफ पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाए जा रहे थे।पुलिस ने भी इस मामले में कई लोगों पर सरकारी काम में बाधा उत्पन्न करने के आरोप में कई लोगो पर प्राथमिकी दर्ज कराई थी।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here