सविधान में हिंसा तोड़फोड़ का आधिकार किसी को नहीं लेकिन अब वक्त आ गया है जब सरकार को रोजगार के विषय में बात करना चाहिए और रोजगार देना चाहिए : डॉ मुकेश रौशन

Advertisement

मोदी नीतीश की केंद्र और बिहार सरकार की के युवा तथा रोजगार विरोधी सोंच तथा युवाओं के हत्या के प्रयास के खिलाफ छात्रों के बिहार बंद के समर्थन में राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश महासचिव सह महुआ विधायक डॉ मुकेश रौशन के नेतृत्व में सुबह से उत्तर बिहार का द्वार राम अशीष चौक को बांस बल्ला से घेरकर पूर्णतः जाम कर दिया गया है।इस दौरान सड़कों पर टायर जलाए जा रहे हैं तथा गाड़ीयों की लंबी कतारें लगी हैं।

बंद के दौरान महुआ विधायक डॉ मुकेश रौशन ने कहा कि 19 लाख युवाओं को रोजगार देने वाली बिहार सरकार तथा प्रतिवर्ष दो करोड़ रोजगार देने का जुमला फेंकने वाली नीतीश- मोदी की बिहार तथा केंद्र सरकार रोजगार के विषय में बात करे, वरना हालात और भयानक हो सकते हैं।

Advertisement

महुआ विधायक डॉ मुकेश रौशन ने कहा कि सविधान में हिंसा तोड़फोड़ का आधिकार किसी को नहीं लेकिन अब वक्त आ गया है जब सरकार को रोजगार के विषय में बात करना चाहिए और रोजगार देना चाहिए नही तो हालात इससे भी भयानक उत्पन्न हो सकते है। RRB NTPC उपद्रव के नाम पर शिक्षकों तथा छात्रों पर किए गए मुकदमें इस अघोषित युवा आन्दोलन को और भी ज्यादा भड़का सकता है।

उन्होंने कहा कि छात्रों की मांगे पूरी तरह से बाजिव है। छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। ऐसे में डा मुकेश रौशन तथा राष्ट्रीय जनता दल का सभी कार्यकर्ता छात्रों के साथ पूरी तरह से खड़ी है। ग्रुप डी की नौकरी के लिए भी छात्रों के साथ इस तरह से खेल होगा तो राजद चुप नहीं बैठेगी।

राजद के प्रदेश महासचिव सह महुआ विधायक डॉ मुकेश रौशन ने कहा कि पुलिस को रेलवे बहाली बोर्ड पर मुकदमा दर्ज करना चाहिए।इनके अध्यक्ष सहित तमाम सदस्यों को अभियुक्त बनाया जाना चाहिए। स्वंय रेल मंत्री ने कुबूल किया है कि लड़कों की शिकायत जायज है।इस मामले में रेलवे भर्ती बोर्ड ने अपराधिक लापरवाही बरती है। इन्हीं की वजह से लड़कों में उत्तेजना फैली। बोर्ड से अनुरोध किया गया था कि गलती को सुधारिए अन्यथा लड़के रेल की पटरियों पर उतर सकते हैं। लेकिन अफसरी अहंकार में बोर्ड वालों ने अपनी गलती नहीं सुधारी।फलस्वरूप परिणाम सबके सामने है। इसलिए पुलिस द्वारा कोचिंग चलाने वालों पर केस दर्ज करना बिलकुल गलत है।महुआ विधायक डॉ मुकेश रौशन ने बिहार सरकार से माँग किया कि अविलंब कोचिंग चलाने वाले शिक्षकों पर से मुकादम हटाया जाए और बहाली बोर्ड के अध्यक्ष सहित सभी सदस्यों और पदाधिकारियों पर हत्या का मुकादम दर्ज किया जाए।

राजद विधायक ने मांग की है कि पुलिस को शिक्षकों की जगह रेलवे भर्ती बोर्ड के अधिकारियों पर मुकदमा दर्ज करना चाहिए।

इस दौरान विधायक के नेतृत्व में राजद के वरिष्ठ नेता जिला उपाध्यक्ष ललन साहू, राजेश शर्मा,बासकित राय,वरुण पासवान, अमर आलोक, सुकेश यादव,विकाश यादव, मंटू यादव, धर्मेंद्र यादव, नीतेश यादव,विशाल यादव सहित अन्य कार्यकर्ता शहर में घुम कर बिहार बंद करवा रहे हैं।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here