पतंजलि ग्रामीण आरोग्य केंद्र का उद्धाटन किया गया

Advertisement

विजय कुमार, पातेपुर ।  श्रीराम-जानकीपुरम के मठाधीश महंत विश्वमोहन दासजी महाराज ने कहा कि जैसा अन्न वैसा मन। आहार-विहार में गड़बड़ी के कारण लोग विभिन्न व्याधियों का शिकार हो रहे। भोजन में सात्विकता का समावेश कर बीमारियों से बचा जा सकता है।

उपर्युक्त बातें पातेपुर के सिनेमा रोड स्थित पतंजलि ग्रामीण आरोग्य केंद्र का उद्घाटन करने के बाद आयोजित समारोह में उपस्थित लोगों को वे संबोधित करते हुए कहा। उन्होंने कहा कि आहार के साथ औषधि चयन में भी समझदारी दिखाना जरूरी है। आधुनिक चिकित्सा पद्धति बीमारी में तत्काल लाभ पर बाद में कई दुष्परिणामों का कारक बन जाता है। आयुर्वेदिक चिकित्सा हर दृष्टिकोण से सुरक्षित है।

Advertisement

महंत श्री दास ने कहा कि यह संतोष की बात है कि पातेपुर में भी पतंजलि का आरोग्य केंद्र खुल गया है। आयुर्वेदिक औषधियों के लिए लोगों को कहीं अलग नहीं जाना होगा। इस मौके पर मुखिया संघ के अध्यक्ष मनोज कुमार, राजकुमार सिंह, मुखिया सह जदयू प्रखण्ड अध्यक्ष दिलीप कुमार, अशर्फी सिंह कुशवाहा, राम ईश्वर सिंह, पंसस मच्छु साहनी, पप्पू सिंह कुशवाहा, मो सत्तार, केंद्र व्यवस्थापक रामानंद सिंह, नंदलाल सिंह व उमेश प्रसाद सिंह आदि लोग विशेष रूप से उपस्थित थे।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here