वाणीश्री न्यूज़, जमशेदपुर समाहरणालय सभागार, जमशेदपुर में माननीय मंत्री स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण सह आपदा प्रबंधन विभाग, झारखंड सरकार श्री बन्ना गुप्ता द्वारा विभिन्न विभागों की समीक्षात्मक बैठक की गई । बैठक में स्वास्थ्य, शिक्षा, नगर निकाय, कल्याण, समाज कल्याण, आपदा प्रबंधन, विद्युत, आपूर्ति आदि विभागों की गहन समीक्षा की गई तथा जरूरी दिशा-निर्देश दिए गए । स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के क्रम में माननीय मंत्री श्री बन्ना गुप्ता द्वारा ओमिक्रॉन वैरियंट के प्रसार के मद्देनजर जिले में उपलब्ध चिकित्सीय संसाधनों यथा ICU, NICU, PICU, PSA Plant, आईसोलेशन बेड तथा जिले में कोविड जांच एवं टीकाकरण की विस्तृत समीक्षा की गई। उन्होने स्पष्ट कहा कि विश्व के कुछ देशों में कोरोना संक्रमण के ओमिक्रोन वैरियंट का प्रकोप देखा जा रहा है लेकिन मृत्यु दर काफी कम है, फिर भी जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं को दुरुस्त रखने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ा जाए ।

माननीय मंत्री द्वारा जिलेवासियों से भी अपील की गई कि नववर्ष के उत्सव के दौरान कोरोना संक्रमण से सुरक्षा का विशेष ध्यान रखें। आपदा प्रबंधन की समीक्षा के क्रम में माननीय मंत्री श्री बन्ना गुप्ता को जिले में अतिवृष्टि, चक्रवात से हुए नुकसान के मुआवजा भुगतान की जानकारी दी गई । नगर निकाय की समीक्षा के क्रम में उपायुक्त द्वारा जानकारी दी गई कि शहर में 30 स्थानों को चिन्हित किया गया है जहां सीसीटीवी कैमरे का अधिष्ठापन किया जाना है जिसे बाद में और विस्तार दिया जाएगा। माननीय मंत्री द्वारा नागरिक सुविधा के योजनाओं की जानकारी लेते हुए समीक्षा की गई । उन्होने कहा कि सामुदायिक भवनों का निजी रूप से कोई इस्तेमाल तो नहीं कर रहा इसका सर्वे करा लें, साथ ही सभी योग्य लाभुकों को सरकार की जन कल्याकारी योजनाओं का लाभ मिले इसे सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया। शहर में साफ-सफाई, अतिक्रमण तथा कचरा डंपिंग आदि मुद्दों की भी समीक्षा करते हुए जरूरी दिशा-निर्देश दिए गए।

राज्य सरकार के आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा सड़क दुर्घटना में मृत लोगों के आश्रितों को 1 लाख रूपए एवं कोरोना संक्रमण से मृत लोगों के आश्रितों को 50 हजार रूपए मुआवजा भुगतान किया जाना है। इस बाबत उपायुक्त श्री सूरज कुमार द्वारा माननीय मंत्री को जानकारी दी गई कि जिल में सड़क दुर्घटना में मृत 30 व्यक्तियों के आश्रितों को चिन्हित कर मुआवजा भुगतान की प्रक्रिया जारी है, शेष मामलों का निष्पादन भी जल्द किया जाएगा । मौके पर 5 आश्रितों को एक-एक लाख रूपए के मुआवजा राशि का चेक सांकेतिक रूप से माननीय मंत्री द्वारा प्रदान किया गया । वहीं कोरोना संक्रमण से मृत लोगों के संबंध में जानकारी देते हुए बताया गया कि अबतक 603 आवेदन प्राप्त हुए हैं तथा कर्मचारी घर-घर जाकर पीड़ित परिजनों से आवेदन प्राप्त कर रहें हैं। मौके पर कोरोना संक्रमण से मृत 10 व्यक्ति के आश्रितों को भी 50-50 हजार रूपए की सहायता राशि प्रदान की गई।

ICSE बोर्ड के 10 बच्चों जिन्होने राज्यभर में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान पाया उन्हें क्रमश: 3 लाख रू, 2 लाख रू एवं 1 लाख रू। की प्रोत्साहन राशि का चेक माननीय मंत्री द्वारा सौंपा गया । आर्ट्स संकाय में प्रथम स्थान पाने वाली ऐशानी मिश्रा एवं इशादुती डे को 3-3 लाख रूपए, द्वितीय स्थान प्राप्त सिक्ता तारंगिनी को 2 लाख रूपए तथा तृतीय स्थान प्राप्त शांभवी को 1 लाख रूपए का चेक सांकेतिक रूप से दिया गया । वहीं कॉमर्स संकाय में दिया चक्रवर्ती को 3 लाख रूपए, अंशिका गोयल एवं रोहन दत्ता को 2-2 लाख रूपए तथा दीपिका पॉल को 1 लाख रूपए वहीं विज्ञान संकाय में रूपिका सिन्हा को 2 लाख रूपए एवं अनुष्का भारद्वाज को 1 लाख रूपए का चेक सांकेतिक रूप से प्रदान किया गया।
बैठक में अपर उपायुक्त, एडीएम लॉ एंड ऑर्डर, सिविल सर्जन, एसीएमओ, जिला आपूर्ति पदाधिकारी, निदेशक एनईपी, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी, जिला कल्याण पदाधिकारी, भूमि सुधार उपसमाहर्ता, नगर निकाय पदाधिकारी, जिला पंचायती राज पदाधिकारी, विद्युत विभाग, पेयजल विभाग के कार्यपालक अभियंता तथा अन्य संबंधित विभागीय पदाधिकारी उपस्थित थे।

 

Previous articleराज्यसभा सांसद किंग महेंद्र का निधन, शोक की लहर
Next articleपीड़ित परिवार को बीस लाख रुपए और एक व्यक्ति को नौकरी एवं सुरक्षा की हो व्यवस्था- शिवचंद्र राम