मस्जिदों में लौटी रौनक,तराबीह की नमाज का रूह परवर मंजर

Advertisement

रिपोर्ट: मोहम्मद शाहनवाज अता।रमज़ान की आमद से मस्जिदों में दो साल बाद रौनक लौट आई है।

कोरोना के दौर में घरों में कैद होकर नमाज पढ़ने वाले मुसलमानों के चेहरे खिले हुए नजर आए।खुशी से बच्चों के चेहरे भी चमक रहे थे।रमज़ान के चांद की खबर जैसे ही आम हुई मस्जिद की तरफ मुसलमानों के कदम बढ़ गए।हर कोई नमाज के एहतमाम करने की कोशिश में लग गया।यह महीना हर लम्हा सवाब से भरपूर है।

Advertisement

हर लम्हा मुसलमान चाहता है कि इबादत ही में गुजरे।मस्जिद की रौनक भी बढ़ जाती है।आम दिनों के बनिस्बत नमाजी की तादाद भी कसीर हो जाती है।बच्चा,बूढ़ा या जवान,सब की चाहत माहे रमज़ान।बरकत से भरा होता दस्तर ख्वान,बा बरकत महीना माहे रमज़ान।आप सभी इस महीने की फजीलत से फैज हासिल करें।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here