सूर्यदेव व शनिदेव के नगर भ्रमण में जगह -जगह हुआ भव्य स्वागत

Advertisement

न्यूज़ डेस्क, सोनपुर। लोक सेवा आश्रम हरिहर क्षेत्र सोनपुर के प्रांगण में नवनिर्मित भगवान सूर्य एवं शनिदेव के मंदिर में मूर्ति का प्राण प्रतिष्ठा को लेकर शनिवार को आवाहित देवताओं का पूजन अन्नाधिवास ,महा स्नान एवं राज्याधिवास कार्यक्रम विधि- विधान के साथ किया गया। इस कार्यक्रम का यजमान अनिल सिंह गौतम ,सधर्मपत्नी आसन पर बैठे और आचार्य पंडित श्री विशंभर तिवारी ,आचार्य पंडित प्रोफेसर अखिलेश कुमार ओझा , आचार्य पंडित श्री विवेक कुमार पांडे ,आचार्य पंडित श्री अभिषेक तिवारी एवं आचार्य श्री अजीत तिवारी ने विधि विधान व वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ पूजा संपन्न कराया गया। इस पूजा अवधि में आश्रम प्रांगण तथा इसके आसपास के माहौल आध्यात्मिक सुगंध से महमह हो गया। सुबह से शाम तक आश्रम भक्तों से गुलजार बना रहा ।

शाम 5:00 बजे के बाद अध्यात्मिक नगर भ्रमण किया गया जो आश्रम से गाजे बाजे घोड़े के साथ भगवान सूर्य व शनिदेव के साथ श्रद्धालुओ ने निकलकर सबलपुर बभनटोली होते हुए राहर दियर, डीआरएम कार्यालय को स्पर्श करते हुए लकड़ी बाजार, सोनपुर मेला होते हुए पुनः लोक सेवा आश्रम में पहुंचा। नगर भ्रमण यात्रा को सबलपुर बभन टोली सहित जगह- जगह पर श्रद्धालुओं ने शानदार स्वागत किया ।

Advertisement

यात्रा में शामिल भगवान सूर्य एवं शनि देव को दर्शन के लिए कतार बद्ध होकर सड़क के दोनों किनारे श्रद्धालुओं ने भगवान सूर्य और शनिदेव का प्रणाम किया । इस नगर भ्रमण के नैतृत्व कर्ता लोकसेवा आश्रम के संत शिरोमणि विष्नु दास उदासीन उर्फ मौनी बाबा ने रथ पर सवार होकर शनि देव एवं सूर्य देव के साथ यजमान अनिल कुमार गौतम व उनकी धर्मपत्नी नगर भ्रमण में शामिल रहे ।

इस नगर भ्रमण में लोकसेवा आश्रम के युवा संत लालबाबा,दिलीप झा अन्य साधु संत ,पंडित के अलावा अजय कुमार पटना, अधिवक्ता विश्वनाथ सिंह,अभय सिंह, हरिमोहन यादव,रामगोपाल चौधरी सीतामढ़ी,देवकीनंदन भारद्वाज ,नित्यानंद सिंह पटना,,मीरा चौधरी, पत्रकार सुनील कुमार यादव, संजीत कुंमार,शिक्षक मानवेन्द्र सिंह, समाजसेवी राजेन्द्र सिंह ,सतन शर्मा ,बाबू साहब ,सहित सैकड़ों के संख्या श्रद्धालुओं ने चार पहिया, दोपहिया वाहन ,घोड़े, गाजे -बाजे के साथ विभिन्न नगर भ्रमण में शामिल रहे ।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here