ट्यूबवेल के एक पाइप में घुसे थे एक साथ तीन बड़े सर्प,सर्पमित्र डॉ आशीष ने किया तीनों का सुरक्षित रेस्क्यू

0
38
Advertisement

जहरीले नाग,नागिन के एक जोड़े संग मिला एक 6 फ़ीट लम्बा घोड़ा पछाड़

तीन सर्पों का एक साथ सफल रेस्क्यू पूरे जनपद में पहली बार

Advertisement

कृपया जनपद में वन्यजीवों को बचाने में हमारी संस्था की मदद के लिये आगे आइये- डॉ आशीष त्रिपाठी महासचिव, ओशन

इटावा। जनपद इटावा के इकदिल क्षेत्र के नगला रीतौर के एक खेत मे *ट्यूबबेल के बाहर रखे प्लास्टिक के पाइप में एक नाग नागिन का जोड़ा व एक घोड़ा पछाड़ सर्प घुसे थे जिसका देर शाम सफल रेस्क्यू किया गया।* खेत में पड़े एक प्लास्टिक के पाइप में एक साथ तीन से चार सर्प छुपे होने की सूचना *मिशन स्नेक बाइट डेथ फ्री इंडिया के यूपी कोर्डिनेटर वन्यजीव विशेषज्ञ सर्पमित्र डॉ आशीष त्रिपाठी* को स्थानीय ग्रामीण विक्रांत सिंह राशन डीलर द्वारा फोन पर मिली। सूचना मिलते ही वे तत्काल जब वे अकेले ही मौके पर पहुंचे तो देखा कि ग्रामीण सर्पों को पाइप में देखकर अज्ञात भय से बेहद ही डरे हुये थे,तब डॉ आशीष ने उन तीनों सर्पों को बिना किसी नुकसान पहुंचाए 5 मिनट से भी कम समय मे ही एक एक करके तीनों को सुरक्षित पकड़ लिया व उन्हें ले जाकर उनके प्राकृतवास में भी छोड़ दिया।
*विशेष रूप से आज सर्पमित्र बनो जागरूकता मिशन के क्रम मे ग्रामीणों को 6 फ़ीट लम्बे घोड़ा पछाड़ सर्प के विषहीन व किसान मित्र होने के बारे में मौके पर ही जानकारी दी जिसके बाद ग्रामीणों ने भी उनकी बात को सहर्ष ही स्वीकारा और फिर उन्ही ग्रामीणों की मौजूदगी में ही उस घोड़ा पछाड़ सर्प को पास के ही एक खेत मे सुरक्षित छोड़ भी दिया गया ।* वन्यजीव विशेषज्ञ सर्पमित्र डॉ आशीष ने अन्य दो के बारे में जानकारी देते हुये बताया कि ये दोनों ही 5 फ़ीट लम्बे खतरनाक स्पेक्टिकल कोबरा सर्प थे जिसमें जानलेवा न्यूरोटॉक्सिक जहर भी पाया जाता है । इनके किसी भी इंसान को काट लेने से मात्र 10 से 20 मिनट में ही उसकी उपचार न मिलने पर मृत्यु भी हो जाती है। उन्होंने जनपद की जनता से विनम्र निवेदन भी किया कि,जनपद में किसी भी सर्प,जैसे कोबरा ,करैत या रसल वाइपर के दंश से पीड़ित होने पर किसी भी झाड़ फूंक कर ढाक बजाने वाले ढोंगी या किसी सरसों पढ़कर फेंकने वाले तांत्रिक या ओझा के पास बिल्कुल भी न जायें। कृपया तत्काल ही बिना कोई समय गंवाये ही उस पीड़ित व्यक्ति या महिला को जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में ले जाकर भर्ती करायें, वहाँ इलाज के लिये सभी जरूरी एंटीवेनम इंजेक्शन मौजूद है। साथ ही डॉ आशीष ने निवेदन किया है कि, रात्रि के समय में या दिन में भी कहीं भी अंधेरे में जाते समय सभी को बेहद ही सावधान रहने की भी आवश्यकता है कृपया घर मे पुराना समान रखे हुये एरिया में या घर के बाहर कहीं भी जाये तो हमेशा जूते पहनकर व टोर्च लेकर ही जायें। हाल ही में जनपद में कोबरा व करैत बाइट से सही समय पर सही इलाज न मिलने पर दो से तीन लोगों की पहले ही असमय मौत भी हो चुकी है । *जनपद इटावा में सर्पों की लगातार रक्षा व सुरक्षा करने में लगे सर्पमित्र डॉ आशीष त्रिपाठी के द्वारा लोगो को लगातार ही जागरूक करने का अब इतना ज्यादा असर हो चुका है कि,लोगो ने सर्पों को बिल्कुल मारना ही छोड़ दिया है अब ज्यादातर शहरी व ग्रामीण क्षेत्र के लोग लगातार कॉल कर संस्था ओशन महासचिव सर्पमित्र डॉ आशीष को *7017204213 पर किसी भी प्रकार के सर्प के निकलने की सूचना तत्काल ही देने लगे है।* डॉ आशीष ने भी सर्पों को बचाने में सहयोग देने के लिये जनपद की जनता सहित *इटावा पुलिस की डायल 112 के सभी सेवाकर्मियों व वन विभाग का भी विशेष आभार* प्रकट किया है। आज के इस रेस्क्यू में *आकाश दीक्षित* का विशेष सहयोग रहा।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here