डीएलएड रिजल्ट जारी नहीं होने से प्रशिक्षुओं का फूटा गुस्सा , ट्वीट कैंपेन के जरिए सप्ताह के अंदर रिजल्ट जारी करने की मांग

Advertisement

डीएलएड रिजल्ट जारी नहीं होने से प्रशिक्षुओं का फूटा गुस्सा , ट्वीट कैंपेन के जरिए सप्ताह के अंदर रिजल्ट जारी करने की मांग।

बिहार के डीएलएड प्रशिक्षुओं ने रिजल्ट के लिए किया ट्विटर कैंपेन , कहा: चुनाव का रिजल्ट एक दो दिनों में जारी हो जाता है तो डीएलएड क्यों नहीं ?

पटना , 27 फरवरी 2022: बिहार में डीएलएड प्रशिक्षुओं का रिजल्ट को लेकर सरकार और बोर्ड के प्रति एक बार फिर गुस्सा फूटा।मालूम हो कि डीएलएड सत्र 2020-22 एवं 2019-21 के प्रथम वर्ष एवं द्वितीय वर्ष की परीक्षा नवंबर माह में आयोजित हुई थी।परीक्षा होने के लगभग दो महीने बाद मूल्यांकन शुरू नहीं किया गया जिसके लिए प्रशिक्षुओं ने सोशल मीडिया एवं टेलीफोनिक माध्यम से शिक्षा विभाग को अवगत कराए तब जाकर शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार के आदेश पर 27 जनवरी से मूल्यांकन शुरू हुआ।

उस पत्र में खासकर सत्र 2019-21 के अंतिम वर्ष का रिजल्ट जल्द जारी करने के आदेश दिए गए थे।बता दे कि सत्र 2019-21 का पाठ्यक्रम जून 2021 में ही समाप्त हुआ था लेकिन समय पर परिक्षा नहीं होने से इस सत्र के प्रशिक्षु उच्च शिक्षा में नामांकन लेने के साथ अन्य प्रदेश के शिक्षक पात्रता परीक्षा से भी वंचित हो गए।जिससे इस सत्र कि प्रशिक्षुओं की चिंता बढ़ी हुई है।

Advertisement

सबसे बड़ा कारण है कि अप्रैल माह में सातवें चरण शिक्षकों कि भर्ती आने वाली है अगर समय पर रिजल्ट नहीं जारी हुआ तो ये लोग आवेदन से वंचित हो जाएंगे। सूत्रों की माने तो मूल्यांकन कार्य 17 फरवरी को ही समाप्त हो चुकी है।इसके बाबजूद बोर्ड रिजल्ट की न तो कोई तारीख बता रही है और न ही कोई संतोषजनक जबाव दे रही है।ऐसे में प्रशिक्षुओं ने रविवार को ट्विटर के जरिए बिहार बोर्ड और सरकार को जमकर घेरा।

हैशटैग पब्लिश डीएलएड रिजल्ट के नाम से प्रशिक्षुओं ने ट्विटर कैंपेन की शुरुआत की।टीचर्स एकेडमी ग्रुप के फाउंडर शिवम प्रियदर्शी ने ट्वीट करते हुए कहा कि जब मैट्रिक – इंटर का रिजल्ट बीस से पच्चीस दिन में जारी हो जाता है तो डीएलएड प्रशिक्षुओं के साथ दुर्व्यवहार क्यों किया जा रहा है बिहार बोर्ड शिक्षा विभाग के आदेश का उलंघन कर रही है।

ऐसे में बिहार बोर्ड को प्रशिक्षुओं के हित का ख्याल रखते हुए अबिलंव रिजल्ट जारी करे। तो वही प्रशिक्षु आर्यन राज ने कहा कि जब चुनाव का रिजल्ट एक दो दिन में आ जाता है तो डीएलएड रिजल्ट देने में चार – पांच महीना लगाना प्रशिक्षुओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ है। राजनीतिक पार्टी के लोगों ने भी ट्वीट के माध्यम से सरकार और बोर्ड से जल्द रिजल्ट देने की मांग की।

प्रशिक्षुओं ने कहा कि अगर इस सप्ताह रिजल्ट जारी नहीं हुआ तो हमलोग बोर्ड के समक्ष धरना प्रदर्शन करने के लिए बाध्य होंगे।इस ट्वीट कैंपेन में तेजस्वी आनंद , अश्विन दुवे , दुष्यंत मंडल , नाजिश साबरी , मो साजिद , रेहान , प्रियंका के अलावा बिहार के तमाम डीएलएड प्रशिक्षु ने हिस्सा लिया।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here