15% की वेतन बढ़ोतरी से ध्यान भटकाने के लिए स्थानांतरण का खेला खोखला खेल : कुशवाहा

Advertisement
हाजीपुर(वैशाली)जिला शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति वैशाली के संबद्ध शिक्षक संगठनों की एक बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संपन्न हुई। बैठक में सभी संगठनों ने नियोजित शिक्षकों के हाल ही में सरकार के द्वारा स्थानांतरण संबंधी आदेश की बारीकी से समीक्षा करते हुए सरकार पर जमकर हमला बोला।समन्वय समिति के प्रवक्ता सह बिहार राज्य प्रारंभिक शिक्षक संघ के जिला सचिव पंकज कुशवाहा ने दो टूक कहा कि सरकार एक साजिश करके नियोजित शिक्षकों के 1 अप्रैल 2021 से 15% की बढ़ोतरी से ध्यान भटकाने के लिए शिक्षकों के साथ स्थानांतरण का खोखला खेल खेल रही है।
यह स्थानांतरण आने वाले दिनों में शिक्षक शिक्षिकाओं के लिए रद्दी की टोकरी में फेंक देने वाला आदेश साबित होगा। उन्होंने सरकार से 1 अप्रैल 2021 से अविलंब नियोजित शिक्षकों के वेतन में 15% की वृद्धि की मांग करते हुए सरकार की नीयत और नीति पर सवाल उठाया।समन्वय समिति के सह संयोजक एवं परिवर्तनकारी शिक्षक संघ के वरीय सचिव नवनीत कुमार ने शिक्षक एवं उसके परिवार को कोविड वैक्सीन संकुल स्तर पर कैंप लगाकर देने की मांग करते हुए कहा कि सरकार शिक्षकों को एक तरफ फोल्डर फाइल के नाम पर धमका रही है तो वहीं स्थानांतरण का लॉलीपॉप देकर भरमा भी रही है।
स्थानांतरण की प्रक्रिया से 1% शिक्षक शिक्षिकाओं को भी लाभ मिलने वाला नहीं है। प्रक्रिया काफी जटिल बनाया गया। जिसमें चाह कर भी शिक्षकों को समूचित लाभ नही मिल पाएगा।तबादले के लिए प्रमाणपत्रों की जाँच को अनिवार्य बनाया गया है।जबकि राज्य के सभी शिक्षकों को यह मालूम नहीं है कि हमारे प्रमाण पत्रों की जांच हुई है या नहीं।आखिर शिक्षक जाँच की प्रमाणपत्र कहाँ से लाएंगे।सूबे में ऐसे शिक्षक और लाइब्रेरियन हजारों की संख्या में हैं जो कम से कम 10-15 साल से ऐच्छिक तबादले का इंतजार कर रहे हैं।
सेवा शर्त नियमावली लागू होने के बाद भी 1 साल बीत गए हैं।लेकिन अब तक एक भी शिक्षक का तबादला नही हो सका।पुरुष शिक्षकों का म्यूच्यूअल ट्रांसफर बात कही गई जो असंभव सा लगता है।विभिन्न प्रखंडों में कार्य कर रहे शिक्षक को अपने प्रखंड में आने के लिए म्यूचअल नही मिल रहा।सर्वसम्मति से सभी शिक्षक नेताओं ने सरकार से नियोजित शिक्षकों के वेतन में 15% की अविलंब बढ़ोतरी,  स्थानांतरण आदेश प्रक्रिया की त्रुटि को समाप्त कर संतुलित स्थानांतरण आदेश निर्गत करने,फोल्डर फाइल के नाम पर पदाधिकारियों की मनमानी पर रोक लगाने,शिक्षकों का मासिक भुगतान स समय करने,कोरोना काल में मृत शिक्षकों को सरकार के द्वारा राशि एवं सुविधा उपलब्ध कराने की मांग किया है।
बैठक की अध्यक्षता समन्वय समिति के संयोजक राजेंद्र राय ने किया। जबकि बैठक में परिवर्तनकारी शिक्षक संघ के नवनीत कुमार,प्रारंभिक शिक्षक संघ के पंकज कुशवाहा,अध्यक्ष उत्पलकांत प्राथमिक शिक्षक संघ गोप गुट के रंजीत झा,टीईटी प्रारंभिक शिक्षक संघ के मधुरेंद्र भारतीय,आलोक रंजन,परिवर्तनकारी प्रारंभिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष दिनेश पासवान, मोहम्मद कादिर,प्लस टू उच्च माध्यमिक शिक्षक संघ के मनोज कुमार सिंह,रविन्द्र कुमार के अलावा दर्जनों शिक्षकों ने अपनी अपनी बातें विस्तार से रखी।
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here