जब चित्त श्री हरि के पवित्र कथा-कीर्तन में डूब जाय उन्हें किसी भी प्रकार की बाधा नही आती – श्री गुप्तेश्वर जी महाराज

सोनपुर। सोनपुर के प्रसिद्ध बाबा हरिहर नाथ मंदिर के सत्संग भवन में श्रीमद् भागवत कथा के चौथे दिन शनिवार को पूर्व डीजीपी सह हरिहरनाथ मंदिर न्यास समिति के अध्यक्ष गुप्तेश्वर पांडे जी महाराज  ने श्रद्धालुओं को श्रीमद् भागवत कथा के श्रद्धालुओं को महाराज प्रियव्रत की कथा सुनाते हुए कहा कि जिनका चित्त श्रीहरि के पवित्र कथा-कीर्तन में डूब गया है वे किसी भी प्रकार की बाधा या रुकावट के कारण श्रीहरि के कथा श्रवण रूपी कल्याण मार्ग को नहीं छोड़ते।

’’उन्होंने उपस्थित सर्ध्यलुओ को  कहा कि भगवान ब्रह्मा ने प्रियव्रत से कहा, ‘‘पुत्र! मैं तुमसे सत्य सिद्धांत की बात कहता हूं। हम सब तुम्हारे पिता, तुम्हारे गुरु यह नारद, भगवान महादेव तथा मैं स्वयं भी भगवान श्रीहरि की ही आज्ञा मानकर सारे कर्म करते हैं। उनके विधान को कोई नहीं जान सकता। उनकी इच्छानुसार ही सब कर्मों को भोगते हुए हम अपना जन्म सफल करने के लिए निस्संग होकर श्रीहरि के आत्मस्वरूप को प्राप्त कर लेते हैं।   कथा के आरंभ में पूर्व डीजीपी ने श्रीमद्भागवत पुराण में वर्णित कथा के अनुसार उन्होंने बताया कि स्वायंभुव मनु के दो पुत्र थे- प्रियव्रत और उत्तानपाद।

उत्तानपाद के वंश में ही भगवान विष्णु के परम भक्त ध्रुव पैदा हुए। प्रियव्रत बड़े आत्मज्ञानी थे। उन्होंने नारद से परमार्थ तत्व का उपदेश ग्रहण करके ब्रह्माभ्यास में जीवन बिताने का दृढ़ संकल्प कर लिया। इससे ब्रह्या को चिंता हुई कि प्रियव्रत के इस परमार्थ तत्व के आग्रह से तो सृष्टि का विस्तार ही रुक जाएगा। स्वायंभुव मनु की आज्ञा का भी इस आत्मयोगी राजकुमार ने सम्मान नहीं किया। वह हंस पर सवार होकर राज कुमार प्रियव्रत के पास आए। देवर्षि नारद भी वहीं थे।

ब्रह्मा को देखते ही नारद, स्वायंभुव मनु तथा प्रियव्रत उठ खड़े हुए और प्रणाम-सत्कार किया। ब्रह्मा ने सभी को आशीर्वाद देकर आसन ग्रहण किया। इस मौके पर मंदिर न्यास समिति के सचिव विजय कुमार सिंह उर्फ लल्ला, कोषाध्यक्ष निर्भय कुमार, मंदिर के मुख्य अर्चक अचार्य सुशील चंद्र शास्त्री, मंदिर के पुजारी बंम बंम  बाबा, प्रोफेसर चंद्रभूषण तिवारी सेवानिवृत्त स्टेशन सुपरिटेंडेंट राज किशोर सिंह ,शिक्षक मानवेन्द्र सिंह ,धनंजय सिंह समेत मंदिर के कई पंडा व पुजारी मौजूद थे।

 

Google search engine
Previous articleगांधी जयंती पर प्रखंड विकास पदाधिकारी वैशाली ने श्रद्धा ‌सुमन अर्पित करते हुए टीकाकरण महाभियान को सफल बनाने को किया अपील
Next articleE PAPER वाणीश्री न्यूज़ 06-10-2021 WEDNESDAY