महिलाओं एवं छात्राओं को सशक्तिकरण सम्मान पुस्कार से किया गया पुरस्कृत

0
8
Advertisement

वाणीश्री न्यूज़, पटना/हाजीपुर। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के फील्ड आउटरीच ब्यूरो, छपरा द्वारा हाजीपुर स्थित उच्च माध्यमिक विद्यालय, मनुआं में महिला सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के तौर पर वैशाली की जिला परिषद उपाध्यक्ष सुंदर माला, हाजीपुर की प्रखंड प्रमुख जयललिता देवी, आईसीडीएस हाजीपुर की सीडीपीओ ओनम शामिल हुईं।

Advertisement

उद्घाटन सत्र कार्यक्रम से पूर्व एफओबी, छपरा एवं आईसीडीएस हाजीपुर द्वारा महिला दिवस पर जागरूकता रैली निकली गई, जिसमें सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण महिलाएं, किशोरियां, आंगनबाड़ी सेविका-सहायिकाएं एवं स्कूली छात्राएं शामिल हुईं।

 

स्वागत संबोधन एवं विषय प्रवेश करते हुए कार्यक्रम के आयोजक एवं एफओबी, छपरा के क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी सह आरओबी, पटना के कार्यक्रम प्रमुख पवन कुमार सिन्हा ने कहा कि सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा इस खास दिन को एक पर्व के रूप में मनाने का उद्देश्य समाज में महिलाओं की भूमिका, योगदान और उनके हौसलों को याद करना है। यह दिन उनकी उपलब्धियों पर गर्व करने का है, उन्हें सलाम करने का है। उन्होंने महात्मा गांधी के संदेशों को कोट करते हुए कहा कि जब एक आदमी को पढ़ाएंगे तो केवल एक व्यक्ति शिक्षित होगा, लेकिन जब एक स्त्री को पढ़ाएंगे तो पूरा परिवार शिक्षित होता है।

 

वैशाली की जिला परिषद उपाध्यक्ष सुंदर माला ने कहा कि समाज में नारियों को बराबरी का सम्मान मिलना चाहिए। आज के इस कार्यक्रम का उद्देश्य नारियों के अधिकारों और उनके हक को लेकर जश्न मनाने का है। उन्होंने आमजनों से अपील करते हुए कहा कि महिलाओं को हर क्षेत्र में बढ़ावा देने में उन्हें सहयोग करना चाहिए। इससे न केवल महिलाएं सशक्त बनेगी बल्कि देश भी मजबूत बनेगा।

 

हाजीपुर की प्रखंड प्रमुख जय ललिता देवी ने कहा कि हम जो शिक्षा लड़कों को देना चाहते हैं, उसी प्रकार हमें समान शिक्षा लड़कियों को भी देना चाहिए। आज महिलाओं को पंचायत चुनाव में 50% आरक्षण दिए जाने से महिलाएं सशक्त हुई हैं। उन्होंने कहा कि किशोरियों और छात्राओं को पढ़ाई-लिखाई पर अत्यधिक जोर देना चाहिए। यह उनके सशक्तिकरण का मजबूत हथियार है। जब बच्चियां मजबूत और सशक्त बनेगी तब राज्य आगे बढ़ेगा, तब देश आगे बढ़ेगा।

 

हाजीपुर की सीडीपीओ ओनम ने कहा कि यह दिन उन महिलाओं को सम्मान करने का है, जिन्होंने आर्थिक, सामाजिक सांस्कृतिक व खेलकूद में अपनी महती भूमिका निभाई है। उन्होंने कहा कि जुनून और लगन से किशोरियां व छात्राएं कुछ भी हासिल कर सकती हैं, बस उन्हें मन की सोच बदलने और अपने दायरे को बढ़ाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि अगर वे शिक्षा को लेकर आगे बढ़ती हैं, तो बहुत नाम रोशन करेंगी। उन्होंने छात्राओं से अपील की कि वे कभी भी पढ़ाई ना छोड़े और साथ ही वह अपने आसपास के लोगों को भी शिक्षित करें। अपने अंदर लगन और जुनून पैदा करें।

 

विद्यालय के प्राचार्य अवधेश कुमार ने कहा की महिलाएं अपने अधिकारों के प्रति जागरूक हों। कई बार में वे शिक्षा और जानकारी के अभाव में अपने अधिकारों से वंचित रह जाती हैं। शिक्षा ही वह माध्यम है जिससे महिलाएं खुद को सशक्त कर सकती हैं।

 

एफओबी, छपरा के सहायक क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी सर्वजीत सिंह ने कहा कि महिलाओं का योगदान समाज के हर क्षेत्र में बराबर रहा है। हमें कोविड के उस दौर को भी याद करना होगा, जब अस्पतालों में महिला स्वास्थ्यकर्मी दिन-रात अपनी जान को जोखिम में डालकर लोगों की जान बचा रही थीं। उन्होंने कहा कि किसी भी सभ्य समाज की परिकल्पना महिलाओं के बिना संभव नहीं है।

 

महिलाओं को सशक्तिकरण सम्मान एवं छात्राओं को पुस्कार से नवाजा गया

कार्यक्रम के अंत में विभाग द्वारा विभिन्न वर्ग की सशक्त महिलाओं को मंच से महिला सशक्तिकरण सम्मान से सम्मानित किया गया। इसके साथ ही अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस से एक दिन पूर्व विद्यालय प्रांगण में आयोजित कबड्डी प्रतियोगिता की विजेता टीम की कप्तान मुस्कान को तथा उपविजेता टीम की कप्तान सजल सिंधु को ट्रॉफी देकर पुरस्कृत किया गया। इसी प्रकार रस्सी कूद प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान पर रहीं क्रमशः सजल सिंधु, प्रिती कुमारी एवं नंदनी कुमारी को भी विशिष्ट अतिथियों द्वारा पुरस्कृत किया गया। इसके अतिरिक्त म्यूजिकल चेयर प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान पर रहीं क्रमशः सलिल गंंगा, जया कुमारी और सुरभी कुमारी को भी पुरस्कृत किया गया।

 

जादूगर ने मोहा सभी का मन

मंत्रालय के पंजीकृत जादूगर ओ पी सरकार ने मंच से जादू का शो दिखाया। महिलाएं, किशोरियां, छात्राएं एवं आम नागरिकों ने जादू के शो का खूब लुत्फ उठाया। जादू के तरह-तरह के कारनामें देख लोगों ने खूब तालियां बजाईं।

 

कार्यक्रम का संचालन युवा सोशल मोबिलाइजर सजल सिंधु ने किया। कार्यक्रम स्थल पर आईसीडीएस, हाजीपुर की पर्यवेक्षिका श्वेता कुमारी, आंगनबाड़ी सेविकाएं, सहायिकाएं एवं बड़ी संख्या में स्कूल छात्र-छात्राएं एवं ग्रामीण मौजूद थे।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here